Wednesday , October 18 2017

दून में प्रदर्शन के दौरान भाजपा और वामपंथी दलों के बीच खूनी संघर्ष

भाजपा और वामपंथीदेहरादून। उत्तराखंड भाजपा ने केरल में भाजपा कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न का आरोप लगाया है। जिसके चलते उन्होंने सूबे की राजधानी दून में रैली निकालकर लोकल बस अड्डे पर स्थित सीपीएम के कार्यालय पर प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा और वामपंथी कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। दोनों में विवाद इस कदर बढ़ गया कि वह खूनी संघर्ष में तबदील हो गया।

इस दौरान पत्थर लगने से एक वाम़पंथी नेता घायल हो गए। वहां मौजूद पुलिस ने मामला शांत कराने के लिए लोगों पर लाठियां भांजी। कुछ ही देर बाद पुलिस ने इस मामले पर काबू पा लिया।

बलिया में दो पक्षों के बीच फैली हिंसा, लूटपाट के साथ आगजनी को दिया अंजाम

भाजपा कार्यकर्ताओं ने परेड मैदान से रैली निकालते हुए दर्शन लाल चौक, घंटाघर, क्वालिटी चौक से होते हुए लोकल रैली सीपीएम और सीपीआई के कार्यालय के समक्ष पहुंची। भाजपा कार्यकर्ता क्रोधित होते हुए प्रदर्शन इस दौरान वामपंथी संगठनों के कार्यालय में जबरन घुसने की कोशिश करने लगे।

इसके विरोध में वहां मौजूद वामपंथी दलों के कार्यकर्ताओं ने रोकने की कोशिश की। जिस कारण दोनों दोनों पक्ष के बीच झगड़ा होने का सबब बन गया, क्योंकि भाजपा कार्यकर्ता वामदलों के कार्यालय के समीप रैलिंग को क्रॉस करने का प्रयास कर रहे थे, तभी वामपंथी उन्हें रैलिंग को क्रॉस होने से रोकने की जिद्दो जहद करते हुए पीछे धकेल रहे थे।

रैली में भाजपा विधायक विधायक हरबंश कपूर, मुन्ना चौहान, भाजपा के प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल, महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल, महामंत्री आदित्य चौहान, प्रदेश मंत्री सुनील उनियाल गामा आदि वहां मौजूद थे। यह सबके चलते किसी ने भीड़ में पत्थर उछाल फेंका और वामपंथी नेता शेर सिंह को जा लगा। जिससे वह घायल हो गए।

वामपंथियों ने भाजपाइयों पर कार्यालय में घुसकर समान के तोड़फोड़ का भी आरोप लगाया। स्थिति ज्यादा बिगड़ते देख पुलिस ने ने भाजपाइयों पर लाठियों की बरसात की। प्रदर्शन के कुछ देर बाद भाजपा कार्यकर्ता वहां से चलते बने।

अहोई अष्टमी 2017: संतान की रक्षा के लिए इस विधि से करें अहोई माता को प्रसन्न

=>
LIVE TV