गरीबों, वंचितों एवं जरुरतमंद लोगों की समस्याओं को प्राथमिकता

मेरठ : जिलाधिकारी पंकज यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपनी कार्यप्रणाली को दुरस्थ कर गरीबों, वंचितों एवं जरुरतमंद लोगों की समस्याओं को प्राथमिकता पर सुनकर उनका निस्तारण तत्काल करें, जिससे उन्हें न्याय के लिए इधर-उधर फिजुल में न भटकना पड़े। कोई भी विभागीय अधिकारी तहसील दिवसों के प्रति कोताही न बरतें बल्कि तहसील दिवस के साथ अपने कार्यालय में आने वाले जरुरतमंद लोगों की पीड़ा को सुनकर उन्हें न्याय तथा योजनाओं का लाभ उपलब्ध कराया जाए, जिसके वह असली हकदार हैं।

जिलाधिकारी ने भयंकर गर्मी की मौसम को दृष्टिगत रखते हुए शहर व ग्रामीण स्तर पर पीने का शुद्ध पानी तथा किसानों को सिंचाई हेतु नहरों में अंतिम टेलों तक पानी की पर्याप्ता तथा निर्बाध विद्युत आपूर्ति की उपलब्घता सुनिश्चित करने हेतु सम्बंधित अधिकारी को कड़े निर्देश दिये।
तहसील दिवस में जिलाधिकारी के समक्ष कुल 200 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें से 10 का मौके पर ही निस्तारण किया गया तथा शेष शिकायतें जांच से संबंधित होने के कारण उन्हें सम्बन्धित विभागों को प्रेषित किया गया। इस अवसर पर गत दिवस की लम्बित की समस्याओं का भी विभागवार गहनता से समीक्षा की गई, जिन विभागों की समस्यायें अवशेष थी उनके संबंध में संबंधित विभागीय अधिकारी को इनका प्रत्येक दशा में एक सप्ताह में अन्दर निस्तारण हेतु कड़े निर्देश दिए।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश चन्द्र दूबे ने अपने अधीनस्थ पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया वह अपने सूचना तंत्र को मजबूत रखें तथा असामाजिक तत्वों पर पैनी नजर रखते हुए उन्हें खुले में न घूमनें दें। उन्होंने कहा कि जिन लोगो को जिला बदर किया गया है वह किसी भी दशा में जनपद में प्रवेश न करें तथा ग्रामों में रात को नियमित पेट्रोलिंग भी करें।
संवाददाता :- अक्षय कुमार

=>
LIVE TV