पेट्रोल पम्प पर कर्मचारी, पुलिस , और दबंगो में हुआ गोरिल्ला युध्द

  • धमकाकर डीजल लेने को लेकर हुआ विवाद, चार गिरफ्तार

मऊ| मधुबन उफरौली स्थित पेट्रोल पम्प पर सोमवार की रात लगभग पौने बारह बजे कुछ दबंगो द्वारा स्टाफ को धमका कर डीजल लेने का प्रयास किया गया। स्टाफ द्वारा असमर्थता जताने पर एक कर्मचारी को बुरी तरह मारपीट कर घायल कर दिया गया। शोर मचाने पर दबंग अपनी बाइक छोड़कर भागने लगे। खुद को घिरा देख दबंगो ने गाँव में फोनकर दर्जनों साथियों को बुला लिया। दर्जन भर पुलिस पर गाँव वाले भारी पड़ने लगे। कुछ देर बाद काफी संख्या में पुलिस घटना स्थल पर पहुँची तब पुलिस चार लोगों को पकड़कर थाने लायी। इस विवाद में दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। पीड़ित मैनेजर रणजीत मल्ल की तहरीर पर पुलिस ने चार के खिलाफ मारपीट, लूट का प्रयास व जान से मारने की धमकी आदि का मुकदमा पंजीकृत कर आरोपियों को जेल भेज दिया। चारो आरोपी फतेहपुर ताल रतोय के बताये जाते है।उन्हें छुड़ाने के लिये सत्ता पक्ष के तमाम नेताओं के फोन देर रात से ही घँनघनाते रहे।
मधुबन कस्बे के निकट मधुबन घोसी मार्ग पर मल्ल फिलिंग स्टेशन लगभग छः माह पहले खुला है। रात पौने बारह बजे दो लोग मोटर साईकिल से डीजल के लिये पेट्रोल पम्प पर आये और डीजल माँगने लगे। उस समय पम्प पर केवल दो स्टाफ जाफ़र पुत्र जब्बार और दिनेश पुत्र हरिश्चंद निवासी उफरौली पम्प को बन्द कर अंदर सो रहे थे। कर्मचारियों के रात को तेल देने से मना करने पर दोनों दबंग स्टाफ वालों को गाली वगैरह देने लगे।जब स्टाफ ने उन्हें गाली देने से मना करने की कोशिश की तो वह दोनों मारपीट पर उतर गए।किसी तरह से जाफ़र जान बचाकर आफिस में बने स्टाफ रूम में भागा।इसके बाद दबंग केविन का ईंट से शीशा तोड़कर अंदर घुस गए और जाफ़र को मारपीट कर लूटने का प्रयास करने लगे। तब तक दूसरा दिनेश इनकी गाड़ी का चाभी निकालकर भागने में कामयाब हो गया और बाहर निकलते ही चिल्लाने लगा और तुरन्त मैनेजर और मालिक को फोन कर दिया।दोनों दबंग हल्ला मचाने के बाद भागकर भैरोपुर मोड़ तक आ गएऔर अपने गाँव में फोन कर दिये।फोन करने के बाद लगभग डेढ़ से दो दर्जन लोग चार पहिया वाहन से लाठी डंडे हाँकी चाकू आदि लेकर उफरौली भैरोपुर मोड़ पर आ गए।इसी बीच दो गस्ती पुलिस भी आ गयी।लेकिन उनको रोक पाना उनके वश की बात नही थी।पुलिस वालों ने थाने फोनकर और फ़ोर्स की माँग की।थोड़ी ही देर में और पुलिस पहुँच गयी।तब तक पेट्रोल पम्प मालिक व उनके कुछ साथी भी भैरोपुर मोड़ पहुँच गए।थोड़ी देर तक मामला गुरिल्ला युद्ध की तरह चलता रहा।इसके बाद जब काफी संख्या में पुलिस पहुँची तब जाकर मामला शांत हुआ। पुलिसकर्मियों की संख्या देख अधिकांश बदमाश अपनी अपनी बाइक से भाग निकलें।मौके से पुलिस ने चार लोंगो को जाफ़र की निशान देही पर गिरफ्तार करके थाने लायी।इस गुरिल्ला युद्ध में दो पुलिस कर्मियो को भी हल्की चोटे लगी। रात में इस कार्यवाई से आसपास के सभी लोग हतप्रभ रह गए।माहौल ऐसा था कि लोग अपने अपने घरो से बाहर नही निकल रहे थे।गिरफ्तारी के बाद उन्हें छुड़ाने के लिये पुलिस के फोन ग्यारह बजे दिन तक घनघनाते रहे।लेकिन पुलिस ने पेट्रोल पम्प मैनेजर रणजीत मल्ल की तहरीर पर आरोपी अबरार शेख,अशफाक शेख,अवशाफ अहमद,तथा अनवर पुत्र फजले करीम पर धारा 393,452,323,325,504,506तथा427 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया।

=>
LIVE TV