अतुल अंजान ने मोदी सरकार पर जमकर निकाली भड़ास

856fcec9-e7ea-4259-ae48-11158a6031baअतुल अंजान ने मोदी सरकार पर जमकर निकाली भड़ास , प्रदेश सरकार पर क्यों साध रखी मौन मऊ  । एक प्रेसवार्ता के दौरान भाकपा के राष्ट्रीय नेता अतुल कुमार अंजान ने जमकर  केंद्र सरकार पर जमकर अपनी भड़ास निकाली । इन्होने कहा की जिस देश में राष्ट्र प्रेमियों को जेल में भेज दिया जाता है । और देशद्रोहियो को छोड़ दिया जाता है इससे बड़ा दुर्भाग्य इस देश का क्या हो सकता है । कश्मीर में बीजेपी की सरकार होते हुए भी वहां यनिवर्सिटी के देश भक्त छात्रों को झंडा फहराने पर जेल भेज दिया और भारत मुर्दाबाद के नारे लगाने वाले देश द्रोहियो को छोड़ दिया गया ।

 मोदी जी ने चुनाव के दौरान कहा कि विदेशो में जमा काला धन वापस लाया जायेगा और उस रूपये को जनता के खाते में डाल दिया जायेगा । वह काला धन अभी तक क्यों नहीं आया । मोदी जी के गुजरात राज्य में सबसे ज्यादा कुपोषित बच्चे पाये जाते है ऐसा क्यों ? अभी हाल ही में विहार में  हुए चुनाव में बीजेपी बनाम नीतीश चुनाव का दौर चला जिसमे बीजेपी मात मिली । उत्तर प्रदेश में अभी हाल ही में हुए पंचायत  चुनाव में बीजेपी की कितनी सीट निकली है इससे अंदाजा लगाया जा सकता है । 
वही बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष पर भी  निशाना साधा 

बीजेपी के नवागत यूपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य को कहा कि  जिस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के ऊपर ह्त्या रेप व् मारपीट जैसे मुकदमे दर्ज हो वह प्रदेश अध्यक्ष कैसा होगा इसका अंदाजा लगाया जा सकता है । यदि किसी अन्य पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पर इस तरह के मुकदमे दर्ज रहते तो यह पार्टी जीना मुश्किल कर देती । 
उत्तर प्रदेश सरकार के बारे में बोलने से कन्नी काटते नजर आये अंजान 

जो अंजान 2012 के पहले जिस समाजवाद को ”मसाजवाद” कहते थकते नहीं थे …. वही सरकार आने के बाद इस… के चार साल गुजर जाने पर भी “अनज़ाने” से नज़र आने लगे हैं..! कहीं “मसाजवाद” का असर कही “मसाजवाद” का आनंद इनके रगो में भी तो नहीं न छाने लगा है? जैसा कि ये “पिता पुत्र के साथ” अक्सर बड़ी रैलियों में मंच शेयर करते नजर आये और पिता पुत्र के तारीफो के शिकार हुये कही यही तो कारण नहीं है विरोध की धार के कुन्द होने का ….? प्रेस वार्ता में बार बार जोर देकर प्रदेश सरकार के बारे में पूछे जाने पर उन्हें केवल सरकार की कानून व्यवस्था ही केवल प्रश्न चिन्ह लगाये …..किसानो से जुड़े मुद्दे उठाने में तो कोई कसर नहीं छोड़ते है लेकिन क्या उसे अंजाम तक पहुचा पाते है… अंजान साहब ..जब इनकी यूपीए के साथ सरकार रही तो किसानो के लिये क्या किया आपने … अतुल कुमार सिंह अंजान अंजान साहब जिस आगामी 2017 विधान सभा के चुनाव के लिये आप तैयारी कर रहे है क्या आप उस जातिवादी राजनीति से अंजान है?

 

पानी की समस्या पर भी बोले 

इन्होने कहा की जो मिनरल पानी बनाकर बाँटलो में भरकर बेचा जाता है उस पानी को तैयार करके बाँटलो में भरने तक करीब 7 लीटर पानी नुकसान हो रहा है | जिसको तत्काल प्रभाव से ऐसे पानी वाले फैक्ट्रियो को प्रदेश सरकार को बंद कर देना चाहिए। नहीं तो अभी प्रदेश के 22 जनपदों में ही पानी की समस्या से जूझ रहे है और अन्य जिले भी इसके शिकार हो जायेगे | वही किसानो के हित को लेकर इनके कार्यकर्ता आजमगढ़ से बुद्धवार देर शाम तक मऊ पहुचने की बात कही। विवेक सिंह रिपोर्ट

=>
LIVE TV