10 हजार सैनिक हटा चीन खेल रहा है यह बड़ा माइंडगेम, भारत की भी है यह तैयारी

पूर्वी लद्दाख में बीते कई महीनों से जारी तनाव के बीच चीन ने एलएसी से अपने तकरीबन 10 हजार सैनिक वापस लेने का दावा किया है। चीन के अखबार में प्रकाशित एक खबर के अनुसार भीषण सर्दी के मौसम में जंग की कम संभावना के मद्देनजर सैनिकों को विवादित सीमा से हटाया गया है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि सभी सैनिक सेना के वाहन में गए जिससे भारतीय पक्ष उन्हें देख सके। इसी के साथ इस बात की पुष्टि भी हो सके।

अखबार में छपी रिपोर्ट में बताया गया कि यह सैनिक अल्पकालिक समय के लिए शिंजियांग और तिब्बत मिलिट्री क्षेत्र में तैनात किये गये थे। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार इस खबर के बाद भारतीय सेना ने भी यह माना कि चीनी सैनिक वापस गये हैं। हालांकि सेना ने यह भी कहा कि अभी तक तनाव वाले इलाके से एक भी चीनी सैनिक नहीं हटा है।

वहीं मीडिया रिपोर्टस में विशेषज्ञों के हवाले से यह भी बताया गया है कि अगर इतने बड़े पैमाने पर सैनिकों को हटाया गया होता तो सैटेलाइट तस्वीरों के जरिए या फिर संचार उपकरणों की मदद से उसे पकड़ा जा सकता था। लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। चीनी सैनिक इस खुशफहमी में वापस गये है कि उन्होंने अंतिम पोस्ट तक धातु की रोड बना ली है। इसी के साथ पूरे एलएसी पर अडवांस्ड लैंडिग ग्राउंड बना लिया है। जिसके बाद अब उनके पास इतनी क्षमता है कि वह महज एक सप्ताह के भीतर ही पूरी सेना को तैनात कर दें। वहीं मीडिया रिपोर्टस में ही भारतीय सेना के योजनाकारों के अनुसार बताया गया है कि चीन के इसी खतरे के मद्देनजर फिलहाल भारतीय सेना पूर्वी लद्दाख में यथास्थिति की बहाली तक पूरी तरह से अलर्ट रहेगी। भारतीय सेना की ओर यह भी स्पष्ट किया गया है कि चीनी सैनिकों के पूरी तरह से पीछे न हटने तक भारतीय सेना पीछे न हटेगी।

=>
LIVE TV