हनुमान जयंती पर इस चमत्कारी मंदिर के दर्शन मात्र से दूर हो जाते हैं सारे दुख- दर्द, पूरी होती है सारी मनोकामना  

भगवान हनुमान के इस चमत्कारी मंदिर से कोई भी खाली हाथ नहीं लौटता है। मनोकामना पूरी होने के बाद भक्तजनों द्वारा यहां भंडारा लगाया जाता है।

हनुमान जयंती

हनुमानजी के इस मंदिर की मान्यता इतनी प्रसिद्ध है कि मंदिर में भंडारा करवाने के लिए 2026 तक बुकिंग हो चुकी है। अब सिद्धबली बाबा के धाम में भंडारा करवाने के लिए श्रद्धालुओं को सात साल का इंतजार करना होगा।

बाबा की चौखट से कोई भी श्रद्धालु निराश नहीं लौटता है। मान्यता है कि सच्चे मन से मांगी गई हर मुराद यहां पूरी होती है।

कोटद्वार स्थित श्री सिद्धबली धाम हिंदुओं की आस्था का केंद्र है। बजरंगबली के इस पौराणिक मंदिर का जिक्र स्कंद पुराण में भी है।

हमला: बलूचिस्तान में हमलावरों ने 14 बस यात्रियों को भूना, फौज की वर्दी में थे हमलावर!

श्री सिद्धबली बाबा के दर्शन को देश एवं विदेश से श्रद्धालु यहां उमड़ते हैं और मंदिर में मत्था टेककर मनोकामना मांगते हैं।

कोटद्वार के लोग सिद्धबली बाबा को कुलदेवता मानते हैं, इसलिए कोई भी शुभकार्य करने से पहले और कार्य संपन्न होने के बाद बाबा के दर्शन कर आशीर्वाद लेना नहीं भूलते। शादी के बाद सभी नव विवाहित जोड़ों का मंदिर में बाबा के दर्शनों के लिए आना बेहद जरूरी माना जाता है। जिससे उनका वैवाहिक जीवन सुखमय बीतता है।

=>
LIVE TV