स्टाफ नर्स ने प्रसव की आड़ में एक और महिला से लिया तीन सौ रुपये सुविधा शुल्क, पढ़े पूरी खबर

सामुदायिक अस्पताल की संविदा स्टाफ नर्स ने प्रसव की आड़ में एक और महिला से तीन सौ रुपये सुविधा शुल्क ले लिया। वीडियो वायरल होने पर विभाग में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। वहीं बाहर लोग मामले को लेकर तरह-तरह की बातें करने लगे, जिसने भी यह वीडियो देखा वह स्‍वास्‍थ्‍य महकमे पर अंगुली उठाता हुआ नजर आया।   

इस पर संज्ञान लेते हुए सीएमओ ने आनन-फानन में कार्रवाई के नाम पर स्टाफ नर्स का स्थानांतरण कर दिया। जिसकी जांच एसीएमओ डॉ. हरिदत्त नेमी को सौंपी गई है।आदमपुर थाना क्षेत्र के गांव पौरारा निवासी एक ग्रामीण ने 20 अगस्त को पत्नी को डिलीरी के लिए रहरा सीएचसी में भर्ती कराया था। आरोप है कि वहां प्रसव कराने की आड़ में संविदा स्टाफ नर्स ने महिला के पति सेतीन सौ रुपये का सुविधा शुल्क ले लिया। परिवार में किसी ने मोबाइल से इसकी वीडियो बना ली थी लेकिन जब तक महिला अस्‍पताल में भर्ती रही तब तक किसी ने इस पर आपत्ति नहीं जताई। शायद उन्‍हें डर रहा होगा कि इससे इलाज में व्‍यवधान पैदा हो सकता है। हालांकि अस्पताल से छुट्टी होने के बाद ग्रामीण ने बुधवार को वीडियो वायरल कर दिया। जिससे स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सीएमओ डॉ. मेघ सिंह ने स्टाफ नर्स का स्थानांतरण कर दिया और एसीएमओ डॉ. हरिदत्त नेमी को जांच कार्रवाई के निर्देश दिए। सीएमओ डॉ. मेघ सिंह ने बताया कि स्टाफ नर्स संविदा कर्मी है। शासन को कार्रवाई के लिए लिखा गया है। जिसकी जांच एसीएमओ डॉ. हरिदत्त नेमी को सौंपी गई है।

=>
LIVE TV