Tuesday , October 24 2017

‘सैंया भए कोतवाल अब डर काहे का’ की तर्ज पर चला चेकिंग अभियान

चेकिंग अभियानलखनऊ: वूमेन पावर लाइन (1090) चौराहे पर रविवार देर शाम चेकिंग अभियान के दौरान पुलिस ने एक सफेद रंग की कार रुकवाई तो चार युवक रौब से नीचे उतरे। उनके हाव भाव देख गौतमपल्ली थाने की पुलिस को भी नजारा समझने में देर न लगी। कार चला रहे युवक ने सीट बेल्ट भी नहीं लगा रखी थी। जिसपर इंस्पेक्टर गौतमपल्ली ने कार के कागजात दिखाने को कहे। कागजात दिखाने के दौरान कार चला रहे युवक ने पुलिस से कहा अंकल जाने तो पापा एसपी हैं। पूछताछ करने पर पता चला कि वह जीआरपी के एसपी सौमित्र यादव का बेटा था। जिसके बाद पुलिस ने उसे जाने दिया। दो घंटे के अभियान के दौरान एएसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र भी मौजूद रहे।

1090 चौराहे पर 12 स्टंट वाली बाइकों को किया गया सीज

चेकिंग अभियान के दौरान तेजरफ्तार से स्टंट वाली बाइकों पर आ रहे 12 लोगों को पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ा। सभी 12 बाइकों के चालान के साथ उन्हें सीज कर दिया गया। इंस्पेक्टर गौतमपल्ली ने बताया कि स्टंट वाली बाइक थीं, स्टंट के दौरान कोई खतरा न हो इसलिए कार्रवाई की गई।

यह भी पढ़ें : आज से शुरु हुआ सावन का महीना, 50 साल बाद बना ऐसा संयोग

अंबेडकर पार्क में संदिग्ध को पकड़ा

पुलिस ने अभियान के बाद रात आठ बजे के करीब अंबेडकर पार्क का भी जायजा लिया, जहां एक कार खड़ी मिली। कार सर्च करने के दौरान कार चालक भी मौके पर आ गया। जिससे पूछताछ में पता चला कि वह अपनी पत्नी को फन मॉल में छोड़कर यहां घूमने आया था। हलांकि पुलिस खबर लिखे जाने तक उसे हिरासत में लेकर पूछताछ में ही जुटी थी।

सौ वाहनों के चालान

गोमतीनगर सीओ और इंस्पेक्टर के नेतृत्व में सौ से अधिक दो पहिया व चौपहिया वाहनों के चालान हुए। दो बाइक को सीज किया गया। चार चौपहिया वाहनों से काली फिल्म उतारी गई। अभियान के दौरान पुलिस ने जनेश्वर मिश्र पार्क के पास ओवरब्रिज, हुसड़िया चौराहा, पत्रकारपुरम चौराहा व अंबेडकर चौराहे के पास कार्रवाई की।

शिवराज सरकार के लिए शर्मनाक, बेटियों को हल से जोड़कर खेत जोत रहा किसान

फिर लगा अवैध पार्किंग स्टैंड

सहारागंज पुलिस चौकी के पास शनिवार को ट्रैफिक पुलिस ने जो अवैध पार्किंग स्टैंड पकड़ा था वह 24 घंटे के भीतर रविवार को दोबारा लगा मिला। सीओ ट्रैफिक ने दोबारा स्टैंड लगाने पर मुकदमा दर्ज करवाकर जेल भेजने की चेतावनी भी दी थी, लेकिन स्टैंड संचालक फिर भी नहीं माना।

=>
LIVE TV