सुप्रीम कोर्ट ने बैड लोन के मामले में कहा, कुछ गड़बड़ है

bihar_571f5ad234be8एजेंसी/ नई दिल्ली: विजय माल्या द्वारा बैंको से करोड़ों का लोन लेकर फरार होने के बाद देश भर में बैड लोन का मुद्दा चर्चा का विषय हो गया है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि सिस्टम में ही कुछ न कुछ गड़बड़ी है। अब वक्त आ गया है कि सरकार सिस्टम में सुधार करे।

शीर्ष अदालत ने कहा कि आपको ये बताना होगा कि इसे रोकने के लिए वास्तव में आप क्या काम कर रहे है। कोर्ट ने कहा कि क्या सरकार इसे लेकर कोई कमेटी बना रही है जो ये सुझाव दे कि कैसे बैड लोन को रोका जा सकता है।

सुप्रीम कोर्ट ने वित्त मंत्रालय से पूछा है कि बैड लोन के मामलों को रोकने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं, ये 19 जुलाई तक सुप्रीम कोर्ट को बताएं। कोर्ट ने मंगलवार को एसजी रंजीत कुमार से कहा कि हम न तो बैंकर है और न ही एक्सपर्ट।

अब सरकार को ही इस पर अंकुश लगाने के लिए कुछ करना होगा। कोर्ट ने रिजर्व बैंक और इंडियन बैंक एसोसिएशन से भा जवाब मांगा है। याचिका कर्ता प्रशांत भूषण ने एक बार फिर से डिफॉल्टरों का नाम सार्वजनिक किए जाने का मुद्दा उठाया।

साथ ही लोन अमाउंट भी डिक्लेयर किया जाना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि ये राशि इतनी बड़ी है और अटॉर्नी जनरल से पूछा था कि इस मामले में क्या किया जाना चाहिए।

=>
LIVE TV