सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस दीपक वर्मा ने पीएम केयर फंड में दान किए 51 लाख रुपए, मजदूरों की दुर्दशा पर जताई चिंता

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पीएम मोदी ने पीएम केयर फंड में लोगों से थोड़ा-थोड़ा दान करने की अपील की. इसके बाद से कई लोगों ने इस फंड में अपने-अपने हिसाब से दान करना शुरु किया. अब सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस दीपक वर्मा ने बुधवार को प्रधानमंत्री केयर फंड  में 51 लाख रुपये दान दिए हैं. उन्होंने कोरोना वायरस की आपदा के कारण बेरोजगार होकर शहरों से गांवों की ओर पलायन करने वाले गरीब मजदूरों की मदद के लिए यह राशि दान की है. साथ ही जस्टिस वर्मा ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर शहरों में रोजगार छिनने के बाद परिवार के साथ पैदल अपने गांव लौटने को मजबूर हजारों मजदूरों की दुर्दशा पर चिंता जताई है.

दीपक

 

 

पूर्व जस्टिस दीपक वर्मा ने 51 लाख रुपये दान करने के साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी को एक भावुक पत्र भी लिखा है. उन्होंने पत्र में लिखा है कि मानवता इस समय सबसे मुश्किल समय में हैं. ऐसे पहले कभी नहीं हुआ था. बिना थके दिन-रात आपकी मेहनत और नेतृत्व प्रशंसा योग्य है. जो हम भारतीयों खासकर गरीबों और बेघरों को राह दिखाती है. राष्ट्र के नाम आपके संदेश और कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देश में लॉकडाउन का आपका फैसला स्वागत योग्य है. मैं इसकी भूरी-भूरी प्रशंसा करता हूं.

भारत में 3 अप्रैल से डिज्नी प्लस दिखाएगा ढाई सौ से ज्यादा सुपरहीरो फिल्में, नेटफ्लिक्स को देगा टक्कर

उन्होंने आगे पत्र में लिखा कि ऐसे समय में देश के हजारों मजदूर जो जगह-जगह से बाहर आकर अपनी रोजी-रोटी में व्यस्त रहते हैं उनके लिए यह समय बेहद मुश्लिक भरा है. वे इस समय बेरोजगार हो गए हैं और अपने घर को लौटने को मजबूर हैं. उनके पास एक रुपये भी नहीं है. उनके पास गांव जाने के लिए किराए तक के पैसे नहीं हैं. ऐसी स्थिति में ये लोग बीबी-बच्चों के साथ पदयात्रा करने को मजबूर हैं.

 

=>
LIVE TV