Monday , August 21 2017

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में योगी सरकार को पलीता लगा रहे अधिकारी

रिपोर्ट- अमित कुमार सिंह

शंकुलधारा पोखरेवाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी के स्थानीय लोगों ने शहर के शंकुलधारा पोखरे में चल रहे जिर्णोद्धार का काम करवाने वाले अधिकारीयों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। लोगों का कहना है कि योगी सरकार तालाबों के जिर्णोद्धार के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन अधिकारियों की मिली भगत से तालाब में घटिया क्वालिटी का काम करवाया जा रहा है। इस वजह से सरकार के नेक काम में भी पलीता लग रहा है।

क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि शंकुलधारा पोखरे का अपना पौराणिक महत्व है। इसका इतिहास बेहद पुराना है और शहर में इस जैसे एक दो तालाब ही बचे हुए हैं।

उनपर भूमाफियाओं ने कब्जा जमा रखा है। लेकिन अब जब सरकार इनका सुन्दरीकरण करवा रही है तो उसमे भी अधिकारियों और ठेकेदारों की मिलीभगत सामने आ रही है।

स्थानीय लोगों के मुताबिक तालाब की बाउंड्री बेहद खराब क्वालिटी के मटेरियल से बनायी जा रही है। ईट की जुड़ाई तो हाथ से खिचने पर बाहर आ रही है।

लोगों ने बताया कि बाउंड्री के लिए ढलाई के काम में गिट्टी के जगह ईट के टुकड़े डाले गये है। इस वजह से तालाब में पानी भरने के बाद किसी भी समय ढह जायेगा।

एक स्थानीय बुजुर्ग ने बताया कि इसकी शिकायत सभी अधिकारियों से की गई, लेकिन कोई नतीजा सामने नहीं आया। अब आन्दोलन ही एक रास्ता है, जिससे सरकार तक अपनी बात पहुंचाई जा सकती है।

गौरतलब है की लोगों को शिकायत किए पांच दिन से ऊपर हो चुके हैं और कुछ हद तक मामले की जांच भी की जा रही है, लेकिन काम खराब क्वालिटी के मटेरियल से अनवरत है। ऐसी हालत में समझा जा सकता है कि क्षेत्रिय लोगों की शिकायत को अधिकारी कितनी गंभीरता से ले रहे हैं।

=>
=>
LIVE TV