कानपुर में शुरू हुआ विश्व हिंदू परिषद का पूर्वी यूपी का प्रशिक्षण, समिति के प्रमुख चंपतराय ने रखी अपनी राय

कानपुर में आरएसएस के प्रशिक्षण वर्ग के बीच शुक्रवार को विश्व हिंदू परिषद के पूर्वी यूपी का प्रशिक्षण वर्ग शुरू हुआ। जाजमऊ स्थित सरस्वती विद्या मंदिर परिसर में दस दिनों के इस शिविर का शुभारंभ परिषद के केंद्रीय उपाध्यक्ष और रामजन्म भूमि आंदोलन समिति के प्रमुख चंपतराय ने किया।

यूपी का प्रशिक्षण

इस मौके पर उन्होंने कहा कि अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए अब किसी तरह के आंदोलन की जरूरत नहीं है। वर्तमान में केंद्र और प्रदेश की सत्ता के शीर्ष पर जो लोग बैठे हैं, उन्हें मंदिर निर्माण का पूरा ध्यान है। परिषद भी इसके लिए अपने तरीके से काम कर रही है।

केंद्रीय उपाध्यक्ष ने कहा कि वर्तमान समय काम करने का है, आंदोलन करने का नहीं। जो लोग सबका साथ और सबका विकास करने में जुटे हैं, वे श्रीराम के विषय में भी सोच रहे हैं। उन्होंने बताया कि विहिप का प्रशिक्षण वर्ग हर वर्ष आयोजित किया जाता है। यह पूरे देश में होता है।

शासन से देर रात किए 15 कप्तान समेत 25 आईपीएस के तबादले…

प्रशिक्षण वर्ग के माध्यम से युवाओं, महिलाओं, छात्रों और अन्य कार्यकर्ताओं को कठिनाइयों से किस तरह निकल सकते हैं, इसका प्रशिक्षण मिलता है। इसी तरह वर्ग में अपने अंदर की बुराइयों की जानकारी दी जाती है, जिससे उसका निराकरण कर आगे निकला जा सके।

उन्होंने बताया कि विहिप का यह प्रशिक्षण वर्ग तीन स्तरों का होता है, जिसमें बजरंगदल, दुर्गावाहिनी और विहिप तीनों शामिल हैं। देश में यह 100 से अधिक स्थानों पर अलग-अलग समय में आयोजित किया जाता है। शिविर उद्घाटन के अवसर पर लखनऊ क्षेत्र के संगठन मंत्री अंबरीश, वर्गाधिकारी राधेश्याम, प्रांतीय मंत्री दीनदयाल गौड़, विद्यालय के प्रबंधक राजीव महाना सहित करीब 600 कार्यकर्ता मौजूद रहे।

=>
LIVE TV