बिहार में लोग शराब बैन होने से पहुंच रहे हैं अस्प्ताल

n-kumar_5704a6f9c6f2dएजेन्सी/पटना : बिहार में नीतीश कुमार ने शराब पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी है. मंगलवार से यह नियम लागू कर दिया गया है. अब कोई भी शख्स राज्य में देसी-विदेशी शराब खरीद, बेच या पी नहीं सकता. हालांकि शराब पर बैन से शराबियों को खासी परेशानी का सामना करना पद रहा है. इतना ही नहीं शराब न मिलने से कुछ लोग तो बीमार भी होने लगे हैं. कई लोगों को इलाज के लिए अस्प्ताल में भर्ती तक कराना पड़ा.

ऋषि कपूर ने उठाए सवाल 

ऋषि कपूर ने नीतीश सरकार के इस फैसले पर सवाल उठाया है. उन्होंने कहा कि शराब बैन की पॉलिसी अब तक नाकाम रही है. शराब न मिलाने पर लोग साबुन तक खा रहे हैं.

बेतिया में शराब न मिलाने से एक आदमी के बीमार होने का मामला सामने आया है. यहाँ 45 वर्षीय गैसुद्दीन 20 सालों से देसी शराब पी रहा था. लेकिन पिछले 2 दिनों से उसे शराब नहीं मिली तो वे पागलों जैसा बर्ताव करने लगा और अचानक घर में रखे साबुन खाने लगा, लोगों ने बड़ी मुश्किल से उसे रोका. उसे बेतिया के ही एमजेके हॉस्पिटल में नशा मुक्ति केंद्र में एडमिट कराया गया है.

ऐसे ही, मोतिहारी के चैनपुर निवासी 50 साल के रघुनंदन बेसरा को पिछले दो दिनों से शराब के लिए बेचैन थे. मंगलवार को वो शराब न मिलने से इतना बचें हो गया कि बेहोश होकर गिर पड़े. इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. सीवान के नशा मुक्ति केंद्र में 9 नए मरीजों को भर्ती कराया गया है. पिछले 5 दिन में यहां 54 मरीज लाए जा चुके हैं. इनमें से 2 की हालत बिगड़ गई है. उन्हें PMCH रेफर किया गया है.

ऋषि कपूर का ट्वीट

ऋषि कपूर ने ट्वीट कर कहा, ”वाह नीतीश! शराब के लिए 10 साल की सजा और हथियार रखने के लिए पांच साल?” उन्होंने लिखा कि ”इस तरह बिहार को फायदा से ज्यादा नुकसान होगा और अवैध शराब का धंधा बढ़ेगा. दुनिया भर में शराबबंदी फेल रही है.””जागो, आपको 3000 करोड़ रुपए रेवन्यू का भी नुकसान होगा.

=>
LIVE TV