Tuesday , May 22 2018

चेतन भगत ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर दिया सबसे विवादित बयान

लेखक चेतन भगतनई दिल्ली : देश भर के सिनेमाघरों में फ़िल्मों से पहले राष्ट्रगान को अनिवार्य करने के सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद लेखक चेतन भगत ने एक के बाद एक विवादित ट्वीट कर अपनी भड़ास निकाली। चेतन भगत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला आधारहीन है।

चेतन भगत ने ट्वीट किया, “फ़िल्मों से पहले राष्ट्रगान पर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से स्तब्ध हूं। राष्ट्रवाद थोपे जाने से निजी आज़ादी का उल्लंघन होता है।

सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद उन्होंने कहा, “मैं कोई क़ानूनी विशेषज्ञ नहीं हूं लेकिन नहीं जानता कि किस प्रावधान के तहत सुप्रीम कोर्ट एक टिकट ख़रीदने वाले ग्राहक और सिनेमा मालिक के बीच निजी क़रार में हस्तक्षेप कर सकता है।”

चेतन भगत ने लिखा, “सभी टीवी कार्यक्रमों से पहले राष्ट्रगान क्यों नहीं? सभी खेलों से पहले क्यों नहीं? सेक्स करने से पहले भी राष्ट्रगान क्यों न गाया जाए? हास्यास्पद है।

=>
LIVE TV