रूस के इस बड़े वैज्ञानिक ने दिया इस्तीफा, कहा – कोरोना वैक्सीन बनाने में हुआ नियमों का उल्लंघन

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के मामले तेजी से बढ़ रहे है। जिस कारण कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए सभी देश लगातार इसे बनाने के प्रयास कर रहे है। परंतु रूस ने पहली कोविज-19 की वैक्सीन निकाल दी है। कई देशों ने इसे खरीदने का ऑर्डर भी दे दिया है। बता दें कि ये वैक्सीन कितनी सुरक्षित है, इसे जानने के लिए अभी तक इसकी क्लीनिकल स्टडी पूरी ही नहीं हुई है। वहीं रूस के ही एक टॉप डॉक्टर ने कोरोना वैक्सीन बनाने में हुए मेडिकल एथिक्स के उल्लंघन के विरोध में सरकार की एक समिति से इस्तीफा दे दिया है।

आपको बता दें WHO समेत दुनियाभर के कई वैज्ञानिकों ने रूस की वैक्सीन स्पूतनिक-वी पर बड़े सवाल खड़े कर दिए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ट्रायल के नाम पर 42 दिन में मात्र 38 वॉलंटियर्स को ही इस वैक्सीन की डोज  दी गई है। इसके अलावा ट्रायल के तीसरे चरण पर रूस कोई भी जानकारी देने के लिए तैयार नहीं है। रूस की सरकार का कहना है कि हल्के बुखार के अलावा कोई भी साइड इफेक्ट  नहीं दिखे हैं, जबकि रिपोर्ट्स बताते हैं कि 38 वॉलंटियर्स में 144 तरह के साइड इफेक्ट देखने को मिले हैं।

डॉक्टर एलेक्जेंडर रूस के टॉप डॉक्टर्स में से एक माने जाते हैं और रूसी हेल्थ मिनिस्ट्री की एथिक्स काउंसिल के भी सदस्य थे। उन्होंने वैक्सीन बनाने में की गयी इस जल्दबाजी के खिलाफ इस काउंसिल से भी इस्तीफ़ा दे दिया है। उन्होंने कहा कि रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी के लिए ज़रूरी मंजूरी नहीं ली गयीं थीं और इसकी घोषणा जल्दबाजी में कर दी गयी। एलेक्जेंडर ने स्पष्ट कहा है कि इस वैक्सीन के सुरक्षित होने की फ़िलहाल कोई गारंटी नहीं है।

बता दें कि सबसे बड़ा सवाल यह है कि वैक्सीन से जुड़ी जानकारी अभी तक WHO के साथ साझा तक नहीं की गई हैं। इसलिए शक जाहिर किया गया है कि रूस ने वैक्सीन बनाने के लिए तय निर्देशों का पालन नहीं किया है। इस वजह से ही वह जानकारी नहीं देना चाहता है। वहीं, रूस का दावा है कि वैक्सीन ट्रायल के जो नतीजे आए हैं, उनमें बेहतर इम्युनिटी विकसित होने के परिणाम देखने को मिले हैं। किसी के भी अंदर निगेटिव साइड इफेक्ट  नहीं देखने को मिला है, लेकिन सच यह है कि जिन लोगों पर इस वैक्सीन का ट्रायल हुआ उनमें बुखार, शरीर में दर्द, शरीर का तापमान बढ़ना, सूजन जैसे साइड इफेक्ट स्पष्ट नजर आए। इसके अलावा शरीर में ऊर्जा महसूस न होना, भूख न लगना, सिरदर्द जैसे साइड इफेक्ट कॉमन थे।

=>
LIVE TV