रियो में सचिन को नई जिम्मेदारी

अब रियो में सचिन तेंदुलकर भी भारत के सद्भावना दूत होंगे। महान क्रिकेट खिलाड़ी ने मंगलवार को इसी साल अगस्त में होने वाले रियो ओलम्पिक के लिए भारत का सद्भावना दूत बनने का भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। इससे पहले ओलम्पिक में स्वर्ण पदक जीत चुके निशानेबाज अभिनव बिंद्रा और बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान ने सद्भावना दूत बनने के लिए हामी भरी थी।

रियो में सचिन तेंदुलकर

रियो में सचिन तेंदुलकर, सलमान, बिंद्रा

बॉलीवुड स्टार सलमान को ओलम्पिक में भारत का सद्भावना दूत बनाए जाने के बाद काफी विवाद खड़ा हो गया था। पूर्व स्प्रिंटर मिल्खा सिंह ने आईओए के इस फैसले का विरोध किया था। उन्होंने कहा था कि वह स‍लमान के खिलाफ नहीं हैं। लेकिन आईओए को इस पद के लिए किसी खिलाड़ी को चुनना चाहिए था।

इसके बाद आईओए ने सलमान के साथ सद्भावना दूत बनने का प्रस्ताव बिंद्रा, सचिन और ऑस्कर विजेता संगीतकार ए.आर.रहमान के समक्ष रखा था। बिंद्रा ने बीते सप्ताह यह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया था और अब रियो में सचिन ने सद्भावना दूत बनने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। हालांकि रहमान की ओर से अब तक कोई जवाब नहीं आया है।

सचिन ने प्रस्ताव स्वीकार करने के बाद मंगलवार को आईओए को लिखे पत्र में कहा, “यह मेरे लिए सम्मान की बात है कि मैंने 24 साल देश की सेवा की और मैं अभी भी मैदान के बाहर से देश का मान बढ़ाने के लिए तैयार हूं। मेरे लिए खिलाड़ियों का हित और उन्हें अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित करना सर्वोपरि है।”

सचिन ने कहा, “मेरा मानना है कि खेल चाहें कोई भी हो, उसमें उत्कृष्ट प्रदर्शन कर देश का नाम रोशन करने वाला हर खिलाड़ी सही मायने में सद्भावना दूत है। यह देश में बढ़ती खेल संस्कृति का प्रतीक है। रियो जाने से पहले मैं देश के उत्कृष्ट खिलाड़ियों से मिलना मेरे लिए सम्मान की बात है। मैं भारतीय प्रतिनिधमंडल को शुभकामना देता हूं।”

=>
LIVE TV