युवक द्वारा किशोरी को भगा ले जाने के खिलाफ महापंचायत में जुटी हजारों की भीड़, पुलिस-पीएसी तैनात, तनावपूर्ण हालात

 इरादतनगर के पास रहलई गांव में मंगलवार सुबह से तनाव की स्थिति। इलाके से एक मुस्लिम युवक कुछ दिन पहले एक किशोरी को बहला-फुसलाकर भगा ले गया था। पुलिस किशोरी को ढूंढने का प्रयास करने की बजाय परिजनों को टहलाती रही। इस मामले को लव जिहाद से जुड़ा करार देते हुए मंगलवार को त्‍यागी समाज से जुड़े करीब 50 गांवों की महापंचायत बुला ली गई है।

इस महापंचायत पर हजारों की भीड़ जुट चुकी है। भीड़ को रोकने के लिए पुलिस ने लाठियां भी फटकारी तो हालात और बेकाबू हो गए। गांव में तनाव की स्थिति है, भीड़ को देखते हुए पीएसी को भी बुला लिया है। आला पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं।

इरादतनगर कस्‍बे से बीती 11 सितंबर को सुबह पांच बजे एक किशोरी घर से टहलने को निकली थी। रास्‍ते में इसे एक अल्‍पसंख्‍यक समुदाय का युवक अपने साथ बातों में लगाकर ले गया। प्रत्‍यक्षदर्शियों ने किशोरी के परिजनों को सूचना दी। पड़ताल में निकला कि आरोपित युवक बंटी खान है, जो कस्‍बे में ही एक मेडिकल स्‍टोरी पर नौकरी करता था। परिजनों ने थानेे में मुकदमा दर्ज कराया। लेकिन पुलिस ने इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की। क्षुब्‍ध होकर परिजनों ने अपने समाज के लोगों से संपर्क किया। इस पर त्‍यागी महासभा ने मंगलवार को महापंचायत का ऐलान कर दिया। इस इलाके में त्‍यागी समाज से संबंधित करीब 50 गांव हैं। मंगलवार को सुबह से ही ट्रैक्‍टर ट्रॉलियों में भरकर लोग इरादतनगर में जुटने लगे। बताया जा रहा है कि करीब दो हजार से ज्‍यादा लोग गांव में जुट गए हैं। इतनी संख्‍या में लोगों को देखकर पुलिस के भी हाथ-पैर फूल गए। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस ने हल्‍का बल प्रयोग किया तो लोगों का गुस्‍सा और भड़क गया। नारेबाजी होने लगे। कुछ युवकों ने गुस्‍से में आकर पत्‍थर भी उठा लिए। हालात तनावपूर्ण हो चुके हैं।

मौके पर खेरागढ़ विधायक महेश कुमार गोयल ने पहुंचकर ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन भीड़ मानने को तैयार नहीं है। आसपास के इलाकों से फोर्स पहुंच गया है और पीएसी भी बुला ली गई है। भीड़ इरादतनगर थाने की ओर बढ़ रही है। कई हिंदूवादी संगठनों के पदाधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं।

=>
LIVE TV