मोदी सरकार ने बेटियों को दी बड़ी सौगात 31 जुलाई तक खुलवाएं ये… खाता

केंद्र सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट खोलने वालों को बड़ी राहत दी है. सरकार ने कोरोना संकट की वजह से ये छूट दी है. सरकार की ओर से जारी किए गए नोटिफिकेशन के मुताबिक अब 25 मार्च से 30 जून 2020 के बीच जो भी बेटियां 10 साल की उम्र पूरी कर रही हैं. वह अपना खाता खुलवा सकती हैं.

दरअसल, लॉकडाउन की वजह से इस योजना में जो भी माता-पिता अपनी बेटियों का खाता नहीं खुलवा पाए थे, वो अब 31 जुलाई तक आसानी से खुलवा सकते हैं. पहले के नियमों के मुताबिक, जन्म से 10 साल की उम्र पूरी करने वाली बेटियों का ही सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवाने की इजाजत थी.

लेकिन लॉकडाउन के दौरान बड़ी संख्या में माता-पिता अपनी बेटियों का सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता नहीं खुलवा पाए थे. ऐसे माता-पिता को राहत देने के लिए सरकार ने उम्र सीमा में छूट दी है. इस संबंध में पोस्टल डिपार्टमेंट ने नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. हालांकि, इस छूट का लाभ 31 जुलाई 2020 से पहले खाता खुलवाने पर ही मिलेगा.

फिलहाल सुकन्या समृद्धि योजना में 7.6 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है. इस योजना में खाता खुलवाते समय जो ब्याज दर रहती हैं. उसी दर से आपके पूरे निवेश पर ब्याज मिलता है. सुकन्या समृद्धि योजना के तहत मई 2020 तक 1.6 करोड़ से ज्यादा खाते खोले जा चुके हैं

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपये और अधिकतम 1.50 लाख रुपये जमा किया जा सकता है. एक अभिभावक अधिक से अधिक 2 बेटियों के नाम से अकाउंट खुलवा सकता है. 

क्या है योजना?
सुकन्या समृद्धि खाता एक डिपॉजिट योजना है, जिसमें आप बेटी के नाम पर खाता खुलवा सकते हैं.
न्यूनतम निवेशः 250 रुपये
अधिकतम निवेशः 1.5 लाख रुपये
ब्याज दरः 7.6% सालाना (हर साल संशोधन)

कितनी अवधि है?
बच्ची के 10 साल के होने से पहले ये खाता खोला जा सकता है.
शुरुआती 14 साल के लिए खाते में रकम जमा करनी होती है.
ये योजना 21 साल बाद मैच्योर होती है.

टैक्स बचाने का फायदा
इनकम टैक्स एक्ट के सेक्‍शन 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक टैक्स छूट. डिपॉजिट हुई रकम पर मिलने वाले ब्याज पर कोई टैक्स नहीं लगता

निवेश के फायदे
बाकी सभी योजनाओं की तुलना में इसमें ब्याज दर ज्‍यादा मिलता है. बच्ची की उच्च शिक्षा और शादी-ब्याह के लिए बचत कर सकते हैं. मैच्योरिटी पर जो रकम मिलती है, उस पर टैक्स नहीं लगता.

कहां खुलवाएं अकाउंट
नजदीकी डाकघर या सरकारी बैंकों में जाएं, जहां ये सुविधा आपका इंतजार कर रही है, प्राइवेट बैंकों में सुकन्या समृद्धि योजना के अकाउंट खोले जा रहे हैं.

50% तक रकम तभी निकाली जा सकती है, जब बच्ची 18 साल की हो जाए. एक बच्ची के नाम पर सिर्फ एक खाता खोला जा सकता है और ज्‍यादा से ज्‍यादा दो खाते खोलने की इजाजत है. अगर जुड़वां या तीन बच्चियां एक साथ होती हैं, तो तीसरे बच्चे को इसका फायदा मिलेगा.

=>
LIVE TV