मेरठ में डीजीपी के आदेश पर पुलिस ने 24 घंटे में 30 थाना क्षेत्रों से 139 लोगों को गिरफ्तार कर बरामद किए 240 हथियार

लॉकडाउन के बाद यूपी में अपराधी सक्रिय हो गए हैं, डीजीपी के आदेश पर चलाए गए अभियान में बरामद हथियारों का जखीरा इसकी बानगीभर है। रविवार की रात से मेरठ पुलिस ने 24 घंटे में 31 थाना क्षेत्रों से 140 हथियारों के सौदागर गिरफ्तार किए है। उनके कब्जे से 239 पिस्टल, बंदूक, तमंचे और कारतूस बरामद किए गए। तीन थाना क्षेत्रों में असलहा फैक्ट्री भी पकड़ी गई है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि आने वाले पंचायत चुनाव के लिए हथियारों की खेफ तैयार की जा रही थी। कुछ फैक्ट्री स्वामियों को जेल में बंद बदमाशों के आर्डर भी मिले हुए है। पुलिस मौके से फरार आरोपितों की तलाश कर रही है।

सोमवार को रिजर्व पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के आदेश पर 24 घंटे का अभियान चलाकर हथियारों की बड़ी खेप पकड़ी है। पुलिस ने सभी थाना क्षेत्रों से 140 हथियार सप्लायर और बनाने वाले कारीगर गिरफ्तार किए है। उनके कब्जे से 239 तमंचे, बंदूक और पिस्टल बरामद किए। साथ ही बड़ी संख्या में कारतूस भी बरामद किए है। पकड़े गए आरोपित दिल्ली एनसीआर के अलावा विभिन्न राज्यों में हथियारों की सप्लाई करते थे। साथ ही आने वाले पंचायत चुनाव के लिए हथियारों की खेप तैयार कर रहे थे। पकड़े गए आरोपितों ने पूछताछ में बताया कि जेल में बंद कई कुख्यात उधम सिंह और योगेश भदौड़ा समेत कई शातिर अपराधियों की तरफ से भी हथियारों की आर्डर मिल चुके थे। पुलिस पूरे मामले की गहनता से जांच कर रही है। मौके से फरार आरोपितों की तलाश के लिए दस टीमों का गठन किया गया।

दस राजपत्रित अधिकारी लगाकर चलाया अभियान

एसएसपी ने बताया कि रविवार की रात दस राजपत्रित अधिकारी लगाकर अभियान चलाया गया है। सभी थाना क्षेत्रों ने अपने अपने एरिया से दबिश देकर आरोपितों को पकड़ा है। कुछ आरोपित ऐसे है, जो जेल से छूटकर आने के बाद दोबारा से हथियार बनाने और बेचने के धंधे में जुट गए थे।

ब्रह्मपुरी में अवैध असलहे की फैक्ट्री का पर्दाफाश

पुलिस ने लिसाड़ीगेट के फत्तेउल्लापुर रोड निवासी फुरकान को गिरफ्तार किया है, जो घर के पास खाली प्लाट में हथियार बनाने की फैक्ट्री चला रहा था। पुलिस की दबिश के दौरान फुरकान के अन्य साथी मौके से भागने में कामयाब हो गए। पुलिस ने प्लाट के अंदर से 41 तमंचे, 11 अधबने तमंचे एवं हथियार बनाने के उपकरण बरामद किए। पकड़े गए फुरकान ने बताया कि पंचायत चुनाव के लिए हथियारों की खेप एकत्र कर रहा था। उसके पास कई बड़े आर्डर भी आ चुके है। इससे पहने भी फुरकान दिल्ली में हथियारों की बड़ी खेप के साथ पकड़ा गया था। टीपीनगर पुलिस ने भी आठ लोगों को सात तमंचे के साथ गिरफ्तार किया है, जो मुंगेर से लाकर हथियारों की सप्लाई करते है।

परीक्षितगढ़ और किठौर में पकड़ी तमंचा फैक्ट्री

पुलिस ने खजूरी अलियारपुर में काजियो के कब्रिस्तान में चल रही तमंचा फैक्ट्री पकड़ी है, मौके से खान मोहम्मद उर्फ खानू निवासी अहमदनगर बढ़ला को गिरफ्तार किया है। उसके कब्जे से बने और अधबने तमंचे मय उपकरणों के साथ बरामद किए। इसी तरह से किठौर के राधना से भी पुलिस ने तमंचा फैक्ट्री पकड़ी है।

ये है सामान की बरामदगी :

-179 तमंचे 315 बोर

-37 तमंचे 12 बोर एवं 30 बोर

-12 तमंचे अधबने, एक अध्धी

-01 पिस्टल 32 बोर, एक रिवाल्वर 38 बोर

-02 बंदूक अधबनी, एक रायफल 315

=>
LIVE TV