Saturday , April 29 2017

मुलायम की रैली में होगा एकजुटता का इम्तिहान

मुलायम सिंहलखनऊ। मुलायम परिवार में बन रही एकजुटता का पहला सार्वजनिक प्रदर्शन तो एक्सप्रेस वे के लोकार्पण मंच पर दिखा। अब सबकी निगाहें 23 नवंबर को गाजीपुर में होने वाली सपा मुखिया मुलायम सिंह की रैली पर हैं। यहां पार्टी व परिवार की एकजुटता का इम्तिहान होना है। भीड़ के लिहाज से विरोधी दलों से खुद को ज्यादा मजबूत साबित करने की चुनौती से गुजरना भी होगा।

सपा परिवार में राम गोपाल की वापसी के बाद सोमवार को पहली बार परिवार एकजुट दिखा। मुलायम का मंगलवार को जन्मदिवस तो अब सादगी पूर्ण ही मनाया जाएगा। रेल हादसे के कारण मुलायम सिंह ने जन्मदिवस पर सारे कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं। अब तैयारी गाजीपुर की रैली की है। यहां से मुलायम अपने चुनावी अभियान का आगाज करेंगे।

चूंकि इस रैली में भीड़ जुटाने का बड़ा जिम्मा कौमी एकता दल के नेताओं पर है। इस दल का हाल में सपा में विलय हो चुका है। गाजीपुर वैसे सपा का बड़ा गढ़ है और कौमी एकता दल का भी यहां असर है।

गाजीपुर की सैदपुर, गाजीपुर, जंगीपुर व जमानियां विधानसभा सीट पर सपा का कब्जा है तो यहां की मोहम्मदाबाद सीट पर सिबगतुल्ला अंसारी के जरिए कौमी एकता दल का कब्जा है। वैसे तो सपा की योजना आजमगढ़ से ही मुलायम की मंडलीय रैलियां शुरू करने की तैयारी थी लेकिन आजमगढ़ की रैली रद होने के बाद कौमी एकता दल ने मुलायम की बड़ी रैली कराने के लिए सपा को तैयार कर लिया।

मायावती आजमगढ़ में रैली कर चुकी हैं तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गाजीपुर में विशाल रैली कर भाजपा के लिए शंखनाद कर चुके हैं।

क्या रैली में शिरकत करेंगे सीएम अखिलेश यादव?

यह सवाल अहम हो गया है। सपा परिवार में सत्ता संग्राम थमने के बाद कौमी एकता दल के विलय का खुल कर विरोध कर चुके सीएम के लिए रैली में शामिल होना मुश्किल होगा।

सदभावना के नए पुल बनने के बाद हालात बदले हैं और माहौल बेहतर होने लगा है। घर वापसी का दौर भी शुरू हो गया है। राम गोपाल के पार्टी में लौटने के बाद अब यूथ टीम की भी वापसी का इंतजार है। ऐसे में अखिलेश के रैली में शामिल होने की उम्मीद उनके समर्थकों में हैं। पर, कौमी एकता दल के विलय का खुल कर विरोध कर चुके सीएम के लिए रैली में शामिल होना मुश्किल होगा। जिसमें भीड़ जुटाने से लेकर बाकी व्यवस्था तक काम पार्टी के लोगों के जिम्मे है।

रेल दुर्घटना के चलते कार्यक्रम निरस्त

सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने कानपुर में ट्रेन दुर्घटना के कारण अपने जन्म दिवस पर होने वाले सारे कार्यक्रम निरस्त कर दिए हैं। समाजवादी पार्टी का कहना है कि अब उनके जन्म दिवस पर पूरे प्रदेश में कोई कार्यक्रम नहीं होगा। मुलायम का जन्मदिवस मंगलवार 22 नवंबर को है।

सपा ट्रेन हादसे में घायलों के लिए रक्त एकत्र करेगी

सपा प्रवक्ता व सचिव दीपक मिश्र ने बताया कि युवा समाजवादियों द्वारा रक्तदान का कार्यक्रम यथावत रहेगा और एकत्र रक्त को कानपुर हादसे में घायल व्यक्तियों के इलाज में भेजा जाएगा।

LIVE TV