मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी की कोरोना जांच रिपोर्ट आई पॉजिटिव, कैबिनेट बैठक हुई स्थगित

प्रदेश में कोरोना संक्रमण का खतरा सरकार के कामकाज पर असर डाल रहा है। बुधवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक भी स्थगित हो गई। हफ्तेभर के भीतर यह दूसरा बार है जब कोरोना की वजह से कैबिनेट बैठक नहीं होगी। मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) अभय सिंह रावत की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। कैबिनेट की बीती 26 अगस्त की बैठक मुख्यमंत्री आवास स्थित कैंप कार्यालय के दो कार्मिकों के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर स्थगित कर दी गई थी।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उक्त वजह से खुद को आइसोलेट कर दिया था। इसके बाद कैबिनेट की बैठक दो सितंबर को प्रस्तावित की गई थी। अब मुख्यमंत्री के ओएसडी अभय सिंह रावत की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बीते दो दिन ओएसडी अभय मुख्यमंत्री के साथ ही तैनात रहे हैं। 

इस वजह से मुख्यमंत्री कार्यालय ने सावधानी बरतते हुए कैबिनेट बैठक स्थगित कर दी है। अगली बैठक की तिथि अभी तय नहीं की गई है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने इसकी पुष्टि की। साथ में यह स्पष्ट किया गया है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आइसोलेट नहीं रहेंगे। मुख्यमंत्री के ओएसडी के सचिवालय स्थित कार्यालय को भी सील कर दिया गया है। सचिवालय से लेकर मुख्यमंत्री आवास कार्यालय में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं।

सेलाकुई की कंपनी के 11  कर्मियों समेत 17 पॉजिटिव

पछवादून में मंगलवार को सेलाकुई की एक कंपनी के 11 कर्मियों समेत 17 व्यक्तियों में कोरोना पुष्टि हुई। औद्योगिक नगरी सेलाकुई में अब तक करीब 225 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण मिल चुका है। सेलाकुई की दो कंपनियों में पहले भी काफी संख्या में कर्मी कोरोना संक्रमित मिले थे, जिसके चलते सेलाकुई की एक कंपनी ने हाल ही में अपने कर्मियों का पीसीआर टेस्ट कराया था। मंगलवार को कंपनी के 11 कर्मियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर सीएचसी सहसपुर की प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. विनीता स्याना ने सभी संक्रमितों को कोविड अस्पताल देहरादून भेजा और स्वजनों को होम क्वारंटाइन किया। 

इसी के साथ ही चिकित्सकों ने सीएचसी सहसपुर से जुड़ी भगवंतपुर पीएचसी क्षेत्र के गुनियाल गांव में बीस ग्रामीणों का रैपिड एंटीजिन टेस्ट किया, जिसमें तीन की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। चिकित्सकों ने गुनियाल गांव में कोरोना संक्रमण के कई मामले मिलने की वजह से टेस्ट किए थे। 

इसके अलावा उप जिला चिकित्सालय विकासनगर से जुड़े छोटूवाला गांव के एक युवक की कुछ दिन पहले तबीयत खराब हुई थी, जो उपचार के लिए लेहमन अस्पताल गया था। चिकित्सकों ने उसे उप जिला चिकित्सालय भेजा, जहां पर टेस्ट में युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। बाबूगढ़ में एक युवक कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने के कारण संक्रमित हो गया। 

आदूवाला में एक युवक पथरी का उपचार कराने को कई जगह गया।  जिसके चलते उसकी तबीयत खराब हो गई। टेस्ट में आदूवाला का युवक भी संक्रमित निकला। नोडल अधिकारी डॉ. प्रदीप चौहान के अनुसार सभी तीनों संक्रमितों को कोविड अस्पताल भेजा गया है और उनके स्वजनों को होम क्वारंटाइन किया गया। 

=>
LIVE TV