भारत के पूर्वी राज्य बिहार में घूमने के लिए हो जाएं तैयार, जानें क्या है खास

ऐसे बहुत से लोग है जिन्हें लगता है कि भारत के पूर्वी राज्य बिहार में घूमने के लिए कुछ है ही नहीं। लेकिन लोगों का यह सोचना बिल्कुल गलत है। बिहार भी अपनी संस्कृति और ऐतिहासिक इमारतों के लिए काफी जाना जाता है। आप यहां आज भी प्राचीन स्थल, शहर और इमारतें देख सकते हैं। ऐतिहासिक इमारतों के अलावा आप यहां कि प्राकृतिक सुंदरता को भी निहार सकते हैं। तो चलिए आज जानते हैं बिहार के बारे में।

भारत के पूर्वी राज्य बिहार में घूमने के लिए हो जाएं तैयार, जानें क्या है खास

आज हम बिहार के जिले कैमूर के बारे में बताने जा रहे हैं। इस जिले का गठन 1993 में हुआ था।

कैमूर श्रृंखला

कैमूर भ्रमण की शुरुआत आप यहां के कैमूर पहाड़ी से कर सकते हैं। लगभग 483 कि.मी. पहाड़ियों रेंज में फैली हुई है। यह हिस्सा पूर्व का हिस्सा है। यह श्रृंखला मध्य के राज्य जबलपुर से शुरू होकर बिहार के सासाराम तक फैली है। कैमूर की पडाड़ियों से निकली सनसनाहट की आवाज इतनी अच्छी लगती है। लोग इस आवाज के पीछे खींचे चले आते हैं। बिहार की सुंदरता को देखने के लिए यह एक अच्छा स्थान है। अगर आप व्यस्त जिंदगी से कुछ पल निकाल कर कहीं घूमने की चाहत रखते हैं तो आपको एक बार यहां जरूर आना चाहिए।

करकट जलप्रपात

यह स्थान बोटिंग, स्विमिंग, फिशिंग के लिए काफी जाना जाता है। यहां पर इन सभी रोमांचक गतिविधियों का आनंद उठा सकते हैं। इस स्थान को खूबसूरत जसप्रपात के नाम से भी जाना जाता है। यह पूरा स्थान चारों ओर से खूबसूरत पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यहां आप ट्रेकिंग भी कर सकते हैं।

तिहाड़ जेल में कैदी की पीठ पर गोदा ओम का प्रतीक, कोर्ट ने दिए जांच के आदेश

तेलहार कुंड/जलप्रपात

कैमूर वन्यजीव अभयारण्य उपरोक्त स्थलों के अलावा आप यहां की प्रसिद्ध कैमूर वन्यजीव अभयारण्य की सैर का आनंद ले सकते है। यह अभयारण्य भभुआ नगर के पास स्थित है, जहां आप विभिन्न वनस्पतियों और कई जीव-जन्तुओं की प्रजातियों को देख सकते हैं। यह अभयारण्य लगभग 1342 वर्ग कि.मी में फैला है। जंगली जीवों में आप यहां बंगाल टाइगर, जंगली सूअर, स्लोथ भालू, सांभर, हिरण, चितल, नीलगाय आदि को देख सकते हैं। इसके अलावा आप यहां कई पक्षी प्रजातियों को भी देख सकते हैं।

=>
LIVE TV