बार काउंसिल के आहवान पर वकीलों ने की हड़ताल, न्यायिक कामकाज लड़खड़या

रिपोर्ट- KULDEEP AWASHTHI

झांसी : झांसी उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के आहवान पर आज वकीलों की एक दिवसीय हड़ताल से न्यायिक कामकाज पूरी तरह से लड़खड़ा गया। वकीलों ने अपनी मांगों को लेकर जिला अधिवक्ता संघ के बैनर तले जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा।

संघ के अध्यक्ष रमेश कुमार यादव व महामंत्री प्रणय श्रीवास्तव के नेतृत्व में वकीलों ने आज खुद को कामकाज से विरत रखा। इससे न्यायिक कामकाज पूरी तरह से लड़खड़ा गया और पहले से आज की तिथि में जो मुकदमे सूचीबद्ध थे, उनकी सुनवाई नहीं हो सकी। वकीलों की हड़ताल के कारण कचहरी आने वाले वादकारियों को भी खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

जिला बार एसोसिएशन के तत्वाधान में वकीलों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए मांगों को पूरा किए जाने की ओर सरकार का ध्यानाकर्षण कराया। जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजे गए ज्ञापन में अधिवक्ताओं ने दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में वकीलों पर लाठीचार्ज व फायरिंग करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ जल्द गिरफ्तारी की कार्रवाई किए जाने।

बिजली विभाग घोटाला: सपा कार्यकर्ताओं ने किया अनशान, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से मांगा इस्तीफा

अधिवक्ताओं के कल्याण हेतु गठित न्यास द्वारा दी जाने वाली राशि को डेढ़ लाख से बढ़ाकर पांच लाख किए जाने, नए अधिवक्ताओं को प्रोत्साहन राशि दिए जाने तथा प्रदेश में अधिवक्ता सुरक्षा अधिनियम को लागू किए जाने की मांग की। अधिवक्ताओं ने सबसे ज्यादा रोष इस बात पर व्यक्त किया कि माननीय उच्च न्यायालय के आदेश के बाद भी पुलिस कर्मी व अधिकारी लाइसेंसी लेकर कोर्ट परिसर में प्रवेश करते हैं। उनके इस तरह के प्रवेश पर तत्काल स्थाई रूप से रोक लगाना अनिवार्य है।

=>
LIVE TV