बाबा रामदेव के खिलाफ दर्ज हो सकता है देशद्रोह का केस

ramdev-1459835863एजेन्सी/रोहतक।रोहतक में हुए सद्भावना सम्मेलन में भारत माता की जय को लेकर विवादित बयान देने पर योग गुरु बाबा रामदेव फंस सकते हैं। हरियाणा के पूर्व गृह राज्य मंत्री सुभाष बत्रा ने एसपी को शिकायत पत्र देकर देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की है। बता दें कि हाल ही में रामदेव ने कहा था कि कानून का सम्मान करते हैं नहीं तो लाखों के सिर धड़ से अलग कर देते।

रामदेव पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप

पूर्व गृह राज्य मंत्री ने रामदेव पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाते हुए देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सदभावना सम्मेलन में एक धार्मिक प्रतीक का इस्तेमाल करते हुए उन्होंने एक सम्प्रदाय विशेष के खिलाफ जिस तरह की नफरत और हिंसा भड़काने की भाषा का इस्तेमाल किया है वह न सिर्फ निंदनीय है बल्कि राष्ट्रविरोधी आपराधिक कृत्य है। साफ कि वह देश में धार्मिक भावनाओं को भड़काना चाहते है। 

आरएसएस एजेंट की तरह काम कर रहे हैं रामदेव

पूर्व गृह राज्य मंत्री और कांग्रेस नेता ने रामदेव के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज करने की मांग की। उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव भाजपा और आरएसएस के एजेंट के तौर पर काम कर रहे है। शिकायत दिए जाने के बाद अभी तक पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है।

रामदेव का बयान

रोहतक में नई अनाज मंडी में राज्य स्तरीय सद्भावना रैली में पहुंचे योग गुरू रामदेव ने कहा कि एक आदमी टोपी पहनकर कहता है कि चाहे जो कर लें, लेकिन भारत माता की जय नहीं बोलूंगा। उसे यह जान लेना चाहिए कि हम संविधान में आस्था रखते हैं, कानून का सम्मान करते हैं, नहीं तो अनगिनत सिरों को धड़ से काट देते।

कैसे शुरू हुआ विवाद?

पिछले दिनों संघ प्रमुख मोहन भागवत ने एक बयान में कहा था कि कि नई पीढ़ी को भारत माता की जय बोलना सीखाना होगा। जिस पर प्रतिक्रिया देते हुए एमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘चाहे मेरे गले पर चाकू रख दो, लेकिन मैं भारत माता की जय नहीं बोलूंगा। मैं भारत माता की जय नहीं बोलूंगा आप क्या कर लेंगे भागवत साहब।’ इसके बाद लगातार के प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है। 

=>
LIVE TV