बदायूं के वकील लड़ेंगे बसपा के राज्यसभा सांसद नरेंद्र कश्यप की पुत्रवधु हिमांशी की मौत का मुकद्दमा

 

break1ग़ाज़ियाबाद । पूर्व राज्यमन्त्री उ प्र हीरा लाल कश्यप अपनी पुत्री की गोली लगने से हुई मौत के मामले मे ग़ाज़ियाबाद के वकीलों के मुकद्दमा लड़ने से इंकार करने के बाद बदायूं के वकीलों को साथ लेकर देर रात ग़ाज़ियाबाद पहुँच गए ।
बसपा के राज्यसभा सांसद और राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र कश्यप की बहू हिमांशी की मौत 6 अप्रैल को नरेंद्र कश्यप के संजय नगर स्थित निवास पर सिर मे गोली लगने से हो गई थी ।
इस मामले को दहेज़ हत्या बताते हुए हिमांशी के चाचा ने सांसद नरेंद्र कश्यप और उनके परिजनों के खिलाफ थाना कविनगर मे मुकद्दमा दर्ज़ करा दिया था ।
मुकद्दमे के दर्ज़ होने के बाद सांसद की पत्नी व पुत्र डा सागर डासना जेल मे है ।

हिमांशी के पिता हीरालाल कश्यप ने कहा की कैसी विडम्बना है कि ग़ाज़ियाबाद के समस्त वकील सांसद के दबाव मे मेरी बेटी की दहेज़ हत्या के मुकद्दमे की अदालत में पैरवी करने से इंकार कर रहे है , इसीलिए मुझे बदायूं से ही अपने साथ वकीलों को लाना पड़ा ।
उन्होंने कहा कि अगर अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए मुझे दिल्ली से भी वकील बुलाने पड़े तो भी मै बुलाऊँगा और अपनी बेटी के हत्यारों को सज़ा दिला कर रहूंगा ।
उन्हीने कहा कि बड़े ही अफ़सोस की बात है कि ग़ाज़ियाबाद की हाईटेक पुलिस मे क़ाबिल अफसरान होने के बावजूद अभी तक तीन और आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है ।
उन्होंने आगे बताया कि मै अपनी पुत्री हिमांशी के नन्ने पुत्र को भी इस हत्यारे परिवार के साथ नहीं रहने दूंगा , इसीलिए मेरे वकील सोमवार को इ्लाहबाद हाई कोर्ट मे उसे गॉद लेने हेतू अर्ज़ी दाखिल करेंगे ।
सोमवार को ही ग़ाज़ियाबाद की अदालत में हिमांशी की हत्या के मामले की सुनवाई होगी ।

=>
LIVE TV