मम्मी-पापा के नाम से निकालकर इस तरह रखें बच्चों का नाम

बच्‍चों का नामकरण करना एक चुनौती की तरह होता है, क्‍योकि एक बार नामकरण के बाद बच्‍चे को हमेशा उसी नाम से जाना जाता है। इसलिए सब अपने लाडला/लाडली का नाम ऐसा रखना चाहते हैं तो अर्थपूर्ण तो हो साथ ही उसका उच्‍चारण भी आसानी से किया जा सके। कुछ लोग तो अपने घर के अन्‍य सदस्‍यों के नाम पर ही बच्‍चे का नामकरण कर देते हैं।

बच्चों का नाम

नाम से ही आपके बच्‍चे की पहचान होती है और नाम ही व्‍यक्तित्‍व को भी दर्शाता है। आप यदि अपने बच्‍चे का नाम खुद के नाम पर या घर के अन्‍य सदस्‍यों के नाम पर रखना चाहते हैं तो परंपराओं, सामाजिक नियम, पारिवारिक रीति-रिवाज तथा और भी तमाम बातों का ध्‍यान जरूर रखें। बच्‍चे का नाम घर के उस सदस्‍य के नाम पर करें जिसकी छवि आपके घर में सबसे अलग रही हो। इस लेख में जानिए अभिभावकों के नाम पर बच्‍चे का नामकरण कैसे करें।

आसान नाम का चुनाव

बच्‍चे के नाम ऐसा रखें जो आसान हो और उसका उच्‍चारण करने में भी आसानी हो। यदि आपके घर में भी किसी सदस्‍य का नाम भी ऐसा है तो उनके नाम पर अपने बच्‍चे का नामकरण कर सकते हैं। यदि लड़का है तो उसका नाम पिता या दादा के नाम पर रखें और यदि लड़की है तो उसका नाम मां या दादी के नाम पर रखें। इसके अलावा बच्‍चे का नाम आप संबंधियों के नाम पर भी रख सकते हैं।

नए साल पर जमकर करें पार्टी,लेकिन सेहत को न करें नजरअंदाज

नाम हो अर्थ पूर्ण

आप जिसके नाम पर बच्‍चे का नामकरण कर रहे हैं उसका एक सकारात्‍मक अर्थ होना चाहिए। यदि आपने बिना अर्थ को सोचे ही अपने पूर्वज के नाम के आधार पर उसका नाम रख दिया तो यह हास्‍यास्‍पद हो सकता है। यदि आपके दादा का नाम चिंरौजी लाल है तो आपके बच्‍चे के लिए यह शर्मींदगी का कारण बन सकता है। ऐसे नाम से बच्‍चे को बाद में मनोवैज्ञानिक दबाव भी हो सकता है। इसलिए एक अच्‍छा और अर्थपूर्ण नाम रखें।

घर के अन्‍य सदस्‍यों से पूछें

अभिभावक के नाम पर बच्‍चे का नामकरण करने से पहले घर के अन्‍य सदस्‍यों से उस बारे में विमर्श कर लीजिए। घर में यदि कोई है जिसका नाम बहुत प्रसिद्ध है और घर के अन्‍य सदस्‍यों को भी यह नाम पसंद आ गया है तो उस नाम के आधार पर बच्‍चे का नामकरण कर सकते हैं। कई बार तो लोग अपने अभिभावकों के नाम पर बच्‍चे का नामकरण करने के लिए बच्‍चे के होने का इंतजार कर सकते हैं। तो यदि आपके घर में भी कोई ऐसा है तो उसके लिए आपके घरवाले आपको अच्‍छी सलाह दे सकते हैं।

रोहित शेट्टी जैसा रिश्ता किसी और के साथ होना मुश्किल :निर्देशक फरहाद समजी

साथी से कीजिए बात

बच्‍चे के नामकरण के लिए आपके साथी से अच्‍छी सलाह शायद ही कोई आपको दे सकता है। इसलिए बच्‍चे के नामकरण से पहले अपने साथी की मदद से कुछ नामों की लिस्‍ट बनायें। इसके बाद किसी एक नाम पर सहमति बनायें। क्‍योंकि आपके घर के सभी नामों से आपकी साथी भी अच्‍छे से परिचति होगी। आप जो नाम अपने बच्‍चे को देंगे वह उसके जीवन भर की पहचान होगी। तो घबरायें नहीं, हर पहलू को ध्‍यान से परखें।

अन्‍य तरीके से भी लें मदद

अभिभावकों के नाम पर बच्‍चे का नाम रखने से पहले इन तरीकों के अलावा आप अन्‍य तरह से एक अच्‍छे नाम की खोज कर सकते हैं। इसके लिए आप किताबों और ऑनलाइन का सहारा भी ले सकते हैं। कई ऐसी वेबसाइट्स हैं, जो इसमें आपकी मदद कर सकती हैं। इसके अलावा यदि आपको घर में किसी के नाम के अर्थ उसके भावार्थ की जानकारी नहीं है तो किताबें और ऑनलाइन का सहारा लेकर उस नाम का मतलब जान सकते हैं।

बच्‍चों के लिए सही नाम की तलाश करना खेल नहीं है और अभिभावकों के नाम पर उनका नामकरण करना भी आसान नहीं होता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपने बच्‍चे के लिए सही और अर्थपूर्ण नाम चुनें।

=>
LIVE TV