प्रेरक प्रसंग – ‘नजरिया बदलें, मिलेगी कामयाबी’

एक लड़के के मन में नई – नई बातों को जानने की जिज्ञासा रहती थी | वह हमेशा लोगों से कुछ न कुछ पूछता रहता था | वह जहाँ रहता था , वाही पास में ही एक मास्टर जी भी रहते थे |

प्रेरक प्रसंग

एक दिन वह मास्टर जी के पास गया और बोला ” मैं कामयाब बनना चाहता हूँ | मास्टरजी कृपया मुझे बताएं की कामयाबी का रास्ता क्या है ?”

मास्टरजी ने मुस्कराते हुए कहा कि बेटा मैं तुम्हे कामयाबी का रास्ता बताऊंगा | पहले तुम मेरी बकरी को सामने वाले खूंटे से बांधकर आओं | इतना कहते हुए उन्होंने बकरी की रस्सी लड़के को पकड़ा दी |

वह बकरी मास्टरजी के अलावा किसी के काबू में नहीं आती थी | अत: जैसे ही उस लड़के ने रस्सी थामी, वैसे ही बकरी छलांग लगाकर कूदी और रस्सी हाथ से छूट गयी | लड़का बकरी को खूंटे से बांधने की कोशिश करता रहा | काफी कोशिशें करने के बाद उस लड़के ने चतुराई से काम लिया | उसने बकरी को पैरों से पकड़ लिया | पैर पकड़े जाने के बाद वहां से हिल भी नहीं पाईं और लड़के ने उसे तुरंत खूंटे से बांध दिया |

यह देखकर मास्टरजी उससे बोले ” शाबाश, यही है कामयाबी का रास्ता | जड़ पकड़ने से पूरा पेड़ काबू में आ जाता है |”

कहने का तात्पर्य यह है कि यदि हम किसी समस्या की जड़ पकड़ ले, तो उसका हल आसानी से निकाल सकते है | उस लड़के ने भी इस सूत्र को आत्मसात कर लिया और जीवन में आगे बढ़ता गया | बड़ा होकर यह लड़का ‘खान अब्दुल गफ्फार खान’ के नाम से प्रसिद्ध हुआ |

=>
LIVE TV