प्राइवेट दुकानों पर जांच के बाद दो दुकानों के लाइसेंस हुआ निरस्त

 साधन सहकारी समितियों पर यूरिया का अभाव बना हुआ है। प्राइवेट दुकानों पर प्रशासन का शिकंजा कसा हुआ है। इससे कई लोग दुकानें बंद कर फरार हैं। यदि कहीं भी यूरिया मिलने की सूचना मिलती है तो किसानों की भीड़ इकट्ठा हो जाती है और हंगामा के बीच किसी तरह से वितरण कराया जा रहा है। वहीं कृषि अधिकारी ने दो दुकानों का लाइसेंस निरस्त कर दिया है। इसमें जनता खाद भंडार नाऊसांडा तथा विजय खाद भंडार नगपुर जलालपुर को किसानों को खाद न बेचकर बिचौलियों को खाद देने के आरोप में दोषी पाया गया है।

इसके तहत पहले मुकदमा दर्ज हुआ और अब जिला कृषि अधिकारी डॉ. धर्मराज सिंह ने लाइसेंस निरस्त करते हुए एक सप्ताह के अंदर दुकानदारों से स्पष्टीकरण मांगा है। इस बावत जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है इसमें दोषियों का लाइसेंस भी निरस्त करने की प्रक्रिया की जा रही है। किछौछा : किसान साधन सहकारी समितियों पर यूरिया खाद के लिए बड़ी संख्या में लोग जिद्दोजहद करते नजर आए। बसखारी ब्लॉक मुख्यालय पर स्थित साधन सहकारी समिति प्रथम पर शारीरिक दूरी की धज्जियां उड़ाते हुए किसानों में यूरिया खाद पाने की होड़ लगी रही। किसान रामप्रकाश, जावेद, रमेश, दिनेश कुमार ने बताया यूरिया खाद प्राइवेट दुकानों पर नहीं उपलब्ध थी, इसलिए बसखारी आना पड़ा। एडीओ कोआपरेटिव राम इंदर पासवान ने बताया साधन सहकारी समिति तुलसमपुर, तिलकारपुर, बसहिया, बसखारी, दौलतपुर, तरौली मुबारकपुर, बरही मोहनपुर में यूरिया खाद का वितरण किया जा रहा है। साधन सहकारी समिति अजमेरी बादशाहपुर में सचिव पर यूरिया खाद की कालाबाजारी का मुकदमा पंजीकृत है, जहां यूरिया नहीं है।भीटी : तहसील क्षेत्र भीटी की समितियों पर यूरिया नहीं है। प्राइवेट तथा लाइसेंसशुदा दुकान पर कालाबाजारी के खिलाफ अधिकारियों ने अभियान छेड़ रखा है। समितियों पर उर्वरक न मिलने से किसान प्राइवेट दुकानों से सस्ती, महंगी दरों पर उर्वरक खरीद कर फसलों में डालता था, लेकिन अधिकारियों के खौफ से दुकानदारों के दुकान बंद करने से किसानों के समक्ष दोहरी समस्या उत्पन्न कर दी है। एडीओ सहकारिता अरविद कुमार पांडेय ने बताया जिला मुख्यालय पर यूरिया उपलब्ध है। समितियों के लिए आवंटित किया जा रहा है।

=>
LIVE TV