प्रधानमंत्री का हेलीकॉप्टर चेक करना अईएएस अधिकारी को पड़ा महंगा, EC ने उठाया ये सख्त कदम…

नई दिल्ली। ओडिशा के संबलपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर की कथित रुप से जांच कराने वाले जनरल पर्यवेक्षक मोहम्मद मोहसिन को चुनाव आयोग ने पीएमओ की शिकायत पर निलंबित कर दिया है।

आयोग के अनुसार कर्नाटक कैडर के 1996 बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने एसपीजी सुरक्षा से जुड़े निर्वाचन आयोग के निर्देश का पालन नहीं किया। प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की जांच करना निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देश के तहत नहीं था।

इस मामले में पीएमओ ने दखल दिया था और चुनाव आयोग के अधिकारी इस मामले की जांच करने के लिए ओडिशा भी गए थे। पीएमओ के हस्तक्षेप के बाद उन्हें ड्यूटी से सस्पेंड कर दिया गया है। उन्हें चुनाव आयोग ने एसपीजी सुरक्षा प्राप्त शख्स के बारे में बने निर्देशों के उल्लंघन के आरोप में सस्पेंड किया गया है। इससे पहले चुनाव आयोग ने बदजुबानी को लेकर नेताओं पर सख्ती बरती है।

मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओडिशा के संबलपुर में चुनावी दौरा किया था। कर्नाटक (1996) बैच के आईएएस मोहम्मद मोहसिन संबलपुर में जनरल ऑब्जर्वर के तौर पर नियुक्त थे।

उन्होंने पीएम मोदी के काफिल की तलाशी लेने की कोशिश की। इस के लिए पीएमओ ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी जिसके बाद चुनाव आयोग की टीम पूरे घटनाक्रम का जायजा लेने ओडिशा गई। इस दौरान यहां चुनाव आयोग को एसपीजी सुरक्षा के बावजूद तलाशी लेने की जानकारी मिली। इसके बाद चुनाव आयोग ने निर्देंशों के उल्लंघन के आरोप में आईएएस मोहम्मद मोहसिन को संस्पेंड कर दिया।

क्यों मोदी के हेलीकॉप्टर चेकिंग पर चुनाव आयोग ने IAS को किया सस्पेंड ?

इससे पहले आयोग ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए एक ही दिन में चार दिग्गज नेताओं पर बैन लगाया था। चुनाव आयोग ने भड़काऊ भाषण के लिए पहले यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ और बसपा मुखिया मायवती पर प्रतिबंध लगाया। वहीं, शाम तक एक और बड़ी कार्रवाई करते हुए आयोग ने सपा नेता आजम खान और केंद्रीय मंत्री व बीजेपी नेता मेनका गांधी के चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी थी।

=>
LIVE TV