पुलिस को मिली बड़ी सफलता , बिना लाइसेंस कारोबार पकड़े गए चार आरोपी…

प्रदेश की सरकार के दावें खोखले नज़र आ रहे हैं. बतादें की सड़कों के किनारे सेब सब्जी साथ ही अवेध रूप से कारोबार हो रहा हैं. वहीं कृषि विभाग की टीम ने इन कारोबारियों का पर्दा फाश किया हैं.
खबरों के मुताबिक प्रदेश सरकार के दावों के बावजूद सड़कों के किनारे सेब और सब्जी का अवैध कारोबार बदस्तूर जारी है। गुरुवार को कृषि विभाग की टीम ने शिमला और ठियोग के बीच सड़क किनारे सब्जी और सेब का बिना लाइसेंस अवैध कारोबार करने वाले चार आढ़तियों को पकड़ा।
जहां हैरत की बात यह है कि राजधानी के 30 किलोमीटर के दायरे में 4 अवैध आढ़ती पकड़े गए हैं। दूरदराज क्षेत्रों में अवैध आढ़तियों पर अभी तक कार्रवाई नहीं हुई है।

वहीं उप-निदेशक कृषि विभाग (विपणन) अश्वनी कुमार दत्ता ने बताया कि कुफरी, फागू, नंगलदेवी और रहीघाट में निरीक्षण के दौरान जब आढ़तियों से लाइसेंस मांगे गए तो वह नहीं दिखा पाए।

लेकिन इनमें 3 कारोबारी बिना लाइसेंस सेब आढ़ती और एक कारोबारी सब्जी आढ़ती का काम कर रहा था। दत्ता ने बताया कि बिना लाइसेंस काम कर रहे अवैध आढ़ती किसान बागवानों की फसल का भुगतान किए बिना फरार हो सकते हैं, जिससे किसान बागवानों को साल भर की मेहनत का नुकसान झेलना पड़ सकता है।

मार्केट यार्ड (फल मंडी) के बाहर कृषि विभाग आढ़तियों को कारोबार का लाइसेंस देता है, लेकिन अवैध आढ़तियों पर कार्रवाई एपीएमसी के क्षेत्राधिकार में आती है। इसलिए एपीएमसी को पकड़े गए अवैध आढ़तियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखित सूचना दी जाएगी। निरीक्षण के दौरान जिला कृषि अधिकारी मोहेंद्र सिंह भवानी भी मौजूद रहे।

उप-निदेशक कृषि विभाग (विपणन) अश्वनी कुमार दत्ता ने बताया कि आढ़तियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सरकार के आदेशों पर गठित एसआईटी को भी अवैध आढ़तियों की लिखित सूचना दी जाएगी।
दरअसल प्रदेश सरकार ने सेब सीजन शुरू होने से पहले दावा किया था कि सीजन के दौरान सड़क किनारे कारोबार नहीं होगा। देखा जाये तो आधा सेब सीजन बीत चुका है और सड़क किनारे बिना लाइसेंस फर्जी आढ़ती सेब कारोबार कर रहे हैं। सरकार की ओर से किए गए दावे फेल साबित हुए हैं।
https://www.youtube.com/watch?v=A5K8mDkczDQ&t=49s
=>
LIVE TV