पालघर में साधुओं की हत्या के मामले में उग्र हुआ अखाडा परिषद, PM मोदी को पत्र लिखकर करेगा CBI जांच की मांग

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सीबीआई जांच का आदेश जारी होने के बाद महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार अब पालघर में साधुओं की मॉब लिंचिंग के मामले में भी फिर से घिरती दिख रही है. इस मामले में साधू संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने बॉलीवुड अभिनेता की तरह ही पालघर में जूना अखाड़े के दो साधुओं की हत्या की जांच CBI द्वारा कराए जाने की मांग को पूरी ताकत से रखा है.

अखाड़ा परिषद के प्रमुख महंत नरेंद्र गिरि का कहना है कि शीर्ष अदालत ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में CBI जांच का आदेश केवल इस आधार पर दिया क्योंकि महाराष्ट्र पुलिस तथ्यों की नज़रअंदाज़ी कर लीपापोती करने में जुटी हुई थी. उनके अनुसार महराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार और वहां की पुलिस ने पालघर में साधुओं की हत्या के मामले में भी इसी किस्म का ढुलमुल रवैया अपनाते हुए लीपापोती की है.

साधू संतों को पहले ही महाराष्ट्र की सरकार पर विश्वास नहीं था. सुशांत मामले में की गई लीपापोती के बाद अब तो कतई विश्वास नहीं रह गया है. ऐसे में अब इस मामले की सीबीआई जांच अत्यंत आवश्यक हो गई है. महंत नरेंद्र गिरि का कहना है कि अखाड़ा परिषद इस मामले में जल्द ही पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर उनसे सीबीआई जांच कराए जाने की मांग करेगा.

=>
LIVE TV