पाकिस्तानी सेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भारत सरकार पर ही लगा दिया आरोप

नई दिल्ली। पाकिस्तानी सेना ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पुलवामा हमले के बाद भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत ने पुलवामा हमले को लेकर पाकिस्तान पर बिना सबूत के आरोप लगाए हैं। मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि हमें जवाब देने में इसलिए देरी हुई क्योंकि पहली इसके जांच की गई है।

उन्होनें कहा कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ नहीं हैं इस हमले से पाकिस्तान को कोई फायदा नहीं होगा। उन्होनें कहा कि हमलावर कश्मीर का रहने वाला था और चुनाव से पहले ऐसी घटनाएं होती रहती हैं। आसिफ गफूर ने कहा कि हम जंग की पहल करने की तैयारी नहीं कर रहे, लेकिन अपनी रक्षा करना हमारा हक है। हम गुजरे हुए कल की फौज नहीं है। अगर भारत ने कोई भी आक्रामक तेवर दिखाए तो हम भी जवाबी कार्रवाई करेंगे।

इससे पहले बृहस्पतिवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद दोनों देशों के बीच मौजूद तनाव के मद्देनजर भारत के किसी भी आक्रामण या दुस्साहस का निर्णायक और व्यापक रूप से जवाब देने का अपनी सेना को अधिकार दिया है। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे।

आतंकियों को जन्नत में मिलती है 72 पत्नियां, जानें सच या गलत

पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी हमले के कुछ दिनों बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि इस कायरतापूर्ण कृत्य का बदला लेने के लिए सुरक्षा बलों को पूरी छूट दी गई है। खान ने बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) की एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें देश की सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार अपने लोगों की रक्षा करने में सक्षम है।

 

=>
LIVE TV