परिवार के साथ काम करना खास अनुभव : शान

नई दिल्ली| 1990 के दशक में भाई-बहन की जोड़ी, शान और सागरिका की पॉप संगीत की दुनिया में धूम थी। अब, कई सालों बाद एक फिल्म के गाने के लिए शान अपने बेटों सोहम और शुभ के साथ आए हैं। गायक का कहना है कि परिवार के साथ काम करना एक खास अनुभव होता है, लेकिन यह अन्य गायक-गायिकाओं के साथ काम करने के अनुभव से अलग नहीं होता है।

shaan

दिवंगत संगीतकार मानस मुखर्जी के बेटे शान के लिए परिवार के साथ काम करना नई बात नहीं है, लेकिन वह हमेशा इसे कुछ खास पाते हैं।

शांतनु मुखर्जी के रूप में जन्मे शान ने एक ईमेल साक्षात्कार में आईएएनएस को बताया, “परिवार के साथ काम करना खास अनुभव होता है, लेकिन यह अन्य (गायक-गायिकाओं) के साथ काम करने से अलग नहीं होता। आखिर में आपको अपना बेहतर देना होता है, चाहे परिवार हो, दोस्त हो या पेशेवर हो। लेकिन यह सच में खास अनुभव होता है।”

यह पूछे जाने पर कि बेटों के साथ गाने के दौरान क्या वह थोड़ी ज्यादा जिम्मेदारी महसूस करते हैं? उन्होंने कहा, “जब बेटों के साथ काम करता हूं तो एक खास जिम्मेदारी और संरक्षण की भावना आती है..बहन के साथ काम करना अलग अनुभव है, क्योंकि हम दोनों समान है और साथ पले-बढ़े हैं।”

इस बीच हाल ही में एमटीवी बीट्स पर शो ‘सीक्रेट साइड विद अकासा’ के एक एपिसोड में नजर आए।

गीत ‘तन्हा दिल के गायक’ ने कहा कि उनके बारे में कुछ ऐसे राज हैं, जो लोगों को पता नहीं हैं, जैसे कि उनके घर पर जिम है, जहां वह रोजाना वर्कआउट करते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि वह ‘कैंडी क्रश’ खेलने के शौकीन हैं।

‘सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स’ और ‘स्टार वॉइस ऑफ इंडिया’ जैसे रियलिटी शो की मेजबानी कर चुके शान अब एक ट्रैवल शो की मेजबानी करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि ट्रैवल शो के जरिए वह भारत के विभिन्न हिस्सों के लोकगीतों को सामने लाना चाहते हैं।

=>
LIVE TV