नगरीय विकास अभिकरण में खुलकर हो रही लूट                                                                                            

exclusiveमऊ: जिले में इन दिनों नगरीय विकास अभिकरण विभाग में जमकर हो रही लूट। आपको बता दे कि इस विभाग में नगर विकास के लिये करोड़ो रुपये का बजट पास हुआ था। पिछले सत्र में लेकिन यदि काम देखा जाय जमीनी हकीकत पर जिस  नाली व् रोड को बनाने के के लिये टेंडर होता कि 100 मीटर कार्य कराया जाना है उसे धरातलीय स्तर पर देखा जाय तो वह कार्य कही 60 मीटर हुआ है तो कही 50मीटर हुआ है। और कुछ जगहों की स्थिति तो यह कि पूर्व में नगर पालिका द्वारा कराये गये कार्यो पर भुगतान हो गया है। और तो और जितने कार्य हुये है अब तक उनमे अधिकतर कार्य मानक के अनुरूप नहीं है। कही इंटरलाकिंग ईट ही खराब है तो कही इंटेलॉकिंग ईट लगाने से पहले जो ईट के टुकड़े व् बालू पड़ते है। वह ईट व् बालू पड़े ही नहीं है। रोड को बाधने के लिये रोड के दोनों तरफ ईटो से जोड़कर एक पगडंडी नुमा बनाते है ताकि लगे सारे ईट विखरे न । लेकिन होता यूं है धरातल स्तर पर मानक के अनुरूप कुछ भी नही है। जबकी इसकी हकीकत का पता लगाया गया तो पता चला कि इस विभाग में जो भी कार्य कराये जाते है ।उस कार्य को अवर अभियंता की देख रेख में होना चाहिए क्योकि इस विभाग में कोई भी ठेकेदार पंजीकृत नहीं होता है । केवल   मैटेरियल आपूर्तिकर्ता के लिये पंजीकरण होता है ।लेकिन सारा कार्य आपूर्तिकर्ता ही करता हैं। और अवर अभियंता और आपूर्तिकर्ता सारा रुपये मिलकर हजम कर जाते है।

=>
LIVE TV