धूम-धाम से जिला प्रशासन ने 310 जोड़ों का कराया विवाह, डी.एम. व सी.डी.ओ. ने स्वंय व्यवस्थाओं की सभांली कमान

REPORT-SAURABH SHARMA

फिरोजाबाद। जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह और मुख्य विकास अधिकारी नेहा जैन सहित जन प्रतिनिधियों की उपस्थिति में मा0 मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अन्तर्गत पुलिस लाइन के सामने स्थित ग्राउण्ड में 310 जोड़ो का सामूहिक विवाह सम्पन्न हुआ।

जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी ने नव-दम्पत्तियों को बधाई देते हुये सभी को भावी जीवन के लिए शुभकामनाऐं दी। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप गरीब कन्याओं की शादी कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि इससे समाज में एक अच्छा संदेश जाएगा और कई परिवारों को लाभ होगा।

बताया कि इस योजना के तहत सामूहिक विवाह करने वाली शादी पर प्रदेश सरकार 51000 रू0 खर्च कर रहीं है। इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए कन्या या कन्या के अभिभावक प्रदेश के मूल निवासी होना चाहिए व दो लाख की आय सीमा के अंतर्गत आने वाले सभी परिवार पात्र है। शादी कर रहे जोड़ों में बेटी 18 वर्ष तथा उसका होना वाला पति की उम्र 21 वर्ष से कम नही होनी चाहिए।

कानपुर के लोगों को अब जल्दी ही ज़ाम से निजात मिलने वाला है निजात, कानपुर में भी बनेगी मेट्रो

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नेहा जैन ने सभी दम्पत्तियों को बधांई देते हुये उन्हे आपसी समन्वय से बेहतर वैवाहिक जीवन जीने की सलाह दी। उन्होने कहा कि छोटी छोटी बातों से रिश्ते प्रभावित हो सकते है इसलिए किसी भी बात पर मनमुटाव न रखें और आपस में बात करके समस्याओं का निराकरण कर लें। इस अवसर पर सभी नव-दम्पत्तियों को वैवाहिक सामग्री एवं शादी का जोड़ा सहित विवाह प्रमाण पत्र भी उपलब्ध कराया गया।

सामूहिक विवाह में प्रति जोडा एक डिनर सेट, वाटर कूलर, कडाई एल्यूनियम, पानी की बोतल, एक कुकर, दो बर्नर वाला गैस चूल्हा रेग्यूलेटर व 5 किलो का भरा हुया सिलेण्डर, एक गिलास, कम्बल, मेकअप किट, टंकी स्टील की, वाउल सेट, शेहरा, 02 कटोरी, चम्मच, एक जोडी तोड़िया चांदी की, छः बिछिया चाॅदी के, वर-वधू के वस्त्र आदि उपहार सामग्री प्रदान कराकर विदाई की गयी।

कानपुर के लोगों को अब जल्दी ही ज़ाम से निजात मिलने वाला है निजात, कानपुर में भी बनेगी मेट्रो

सामूहिक विवाह कार्यक्रम में वैदिक मंत्रौच्चारण व मंगलगीत के साथ-साथ आयतों व हदिसों की मंगलध्वनिक के मध्य हिन्दु व मुस्लिम जोड़ों ने आज से अपने वैवाहिक जीवन की शुरूआत करते हुये सुख-दुख में साथ रहने का वचन दिया। जहां सनातन जोड़ों का पाडीग्रहण संस्कार पंण्डित के द्वारा मंत्रौच्चारण कर पूर्ण कराया गया वहीं मुस्लिम सम्प्रदाय के जोड़ों का काजी द्वारा निकाह व कुतवा पढकर आपसी सामंज्स्य से मेहर मुकर्रर कराकर करायी गयीं।

 

 

=>
LIVE TV