दिव्यांग शिक्षिका का हौसला , 12 साल से शिक्षा के क्षेत्र में दे रही अपनी सेवाएं…

स्थान  –  रुड़की

रिपोर्टर – विनीत त्यागी

 

छात्र छात्राओ को जीवन मे आगे बढ़ने के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण है क्योंकि शिक्षा के बिना जीवन अधूरा है वही रुड़की मे शिक्षा के क्षेत्र में एक दिव्यांग शिक्षिका ऐसी भी है जो समाज को आइना दिखा रही है। राजकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत दिव्यांग शिक्षिका जो पिछले 12 सालों से शिक्षा के क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे रही है। और कई छात्राओं को किताब, यूनिफार्म देकर शिक्षा की ओर प्रेरित कर आगे बढ़ाने का हौसला दे रही हैं।

 

 

वहीं रुड़की के सुभाष नगर की रहने वाली दिव्यांग शिक्षिका सुमन अग्रवाल को डेढ़ साल की उम्र में पोलियो हो गया था लेकिन उन्होंने हिम्मत नही हारी और अपना लक्ष्य खुद चुना इसलिए सुमन का कहना है कि जीवन मे आगे बढ़ने के लिए हौसला जरूरी है तभी जीवन हम कुछ पा सकते है।

ग्राम प्रधान के कामों को लेकर ग्रामीणों ने काटा जमकर हंगामा, जानें पूरा मामला

दरअसल उन्होंने कहा कि छात्राओं को भविष्य में पढ़ाई सबसे जरूरी है क्योंकि शिक्षा के बिना कोई काम सम्भव नही है इसलिए जो स्कूल नही जा पाते है।  उन्हे स्कूल तक भेजने पूरा सहयोग करती है।वही शिक्षक दिवस के मौके पर भले कई शिक्षक शिक्षिकाएं सम्मानित नही हो पाती लेकिन छात्रों के भविष्य सवारने में कभी पीछे नही रहते है।

 

 

=>
LIVE TV