दिल्ली में दिन पर दिन होती जा रहा हैं खतरनाक हवा, 400 के पार पहुंचा AQI

पंजाब और हरिय़ाणा के साथ उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में भी किसानों द्वारा जलाई जा रही पराली के कारण दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण खतरनाक रूप लेता जा रहा है। 2 दिन की राहत के बाद दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में एक बार फिर वायु गुणवत्ता स्तर 400 के पार पहुंच गया है। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी द्वारा जारी डाटा के मुताबिक, बृहस्पतिवार को दिल्ली के आनंद विहार में वायु गुणवत्ता स्तर 401, अलीपुर में 405 और वजीरपुर इलाके में 410 है। य़ह स्वास्थ्य के लिहाज से खतरनाक है। 

इससे पहले मंगलवार को हवा की तेज रफ्तार के चलते बुधवार को भी प्रदूषण से थोड़ी राहत तो रही, लेकिन सिर्फ दिल्ली और फरीदाबाद में। इन दोनों जगहों का इंडेक्स 300 से नीचे गिरकर खराब श्रेणी में आ गया। वहीं एनसीआर के अन्य शहरों में यह 300 से ऊपर यानी बहुत खराब श्रेणी में ही चल रहा है। अगले दो दिनों के दौरान फिर से प्रदूषण बढ़ने के आसार 

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) के मुताबिक, बुधवार को दिल्ली का एक्यूआइ 297 के अंक पर रहा। इस स्तर की हवा को खराब श्रेणी में रखा जाता है। एनसीआर में फरीदाबाद छोड़ सभी शहरों की हवा बहुत खराब श्रेणी में दर्ज की गई। वहीं दिल्ली का पीएम 2.5 134 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर और पीएम 10 का स्तर 268 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर दर्ज हुआ।

केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रलय के अधीन सफर इंडिया के मुताबिक, बुधवार को दिल्ली के प्रदूषण में पराली के धुएं की हिस्सेदारी 18 फीसद रही। मंगलवार को पंजाब और हरियाणा में पराली जलने की 1,830 घटनाएं सामने आईं।

मौसम विभाग के मुताबिक, बुधवार को हवा की दिशा उत्तर-पश्चिम और रफ्तार दस किलोमीटर प्रति घंटे के लगभग रही। अनुमान है कि बृहस्पतिवार को हवा की गति मंद रहेगी। इस सूरत में प्रदूषक तत्व छंट नहीं पाएंगे और एक्यूआइ में दोबारा इजाफा हो सकता है। सफर इंडिया ने भी अगले दो दिन दिल्ली एनसीआर के रेड जोन में रहने का अंदेशा जताया है।

=>
LIVE TV