दिल्ली आपदा प्रबंधन की मीटिंग में उपराज्यपाल अनिल बैजल ने राजधानी में मेट्रो चलाने की प्रदान की परमिशन

राज्य में बुधवार को हुई दिल्ली आपदा प्रबंधन की मीटिंग में उपराज्यपाल अनिल बैजल ने राजधानी में मेट्रो चलाने की परमिशन प्रदान कर दी है. इसके साथ ही अब सात सितंबर से दिल्ली मेट्रो दोबारा से दौड़ने लगेगी. लेकिन इसके बारे में विस्तृत सूचना आना अभी बाकी है.

7 सितंबर से चरणों में मेट्रो सेवाएं प्रारंभ होने की आशंका है. कोरोना वायरस के केसों में एक बार फिर बढ़ोतरी को देखते हुए हो सकता है कि चरणों में अलग-अलग लाइनों पर मेट्रो सेवाएं प्रारंभ की जाएं. मेट्रो फैसिलिटी प्रारंभ होने पर यात्रियों की सेफ्टी के लिहाज से सभी एहतियाती स्टेप उठाए जाएंगे. इसके बावजूद अगर एक साथ सभी लाइनों पर मेट्रो दौडने लगी तो यात्रियों की भीड़ को काबू करने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. इस बारें में सूत्रों का बोलना है कि अलग अलग लाइन पर यात्रियों का आंकड़ा, कंटेनमेंट जोन समेत अन्य पहलुओं को देखते हुए चरणबद्ध तरीके से मेट्रो सेवाएं प्रारंभ की जाएंगी.

बता दें की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन समेत दिल्ली मेट्रो की कुल दस लाइन हैं. सभी रूट पर यात्रियों का आंकड़ा, कोरोना संक्रमण की परीस्थिति समेत अन्य पहलुओं को मंथन चल रहा है. हाल ही में दिल्ली के परिवहन मिनिस्टर ने भी मेट्रो स्टेशनों की लिस्ट तैयार किए जाने की बात बोली थी, जहां यात्री सेवाएं मुहैया की जाएंगी. फिलहाल विमानतल लाइन पर यात्रियों की कम संख्या को देखते हुए फ्रिक्वेंसी में भी बदलाव किए जा सकते हैं.  वहीं, मेट्रो सेवाओं की शुरुआत से पहले स्टेशनों के समीप मरम्मत और साफ सफाई का कार्य किया जा रहा है. सेवाएं प्रारंभ होने पर यात्रियों को परेशानी न आए, इसके लिए यात्री सुविधाओं को ठीक किया जा रहा है.

=>
LIVE TV