….तो इस वजह से यहाँ मनाया जाता है मलेशिया नेशनल डे, पढ़े पूरी खबर

मलेशिया दक्षिण पूर्व एशिया में स्थित एक उष्णकटिबंधीय देशों में से एक देश है. यह साउथ चीन सागर से 2 हिस्सों में विभाजित है. मलय प्रायद्वीप पर स्थित मुख्य भूमि के पश्चिम तट पर मलक्का जलडमरू और जिसके पहले तट पर साउथ चीन सागर है. देश का दूसरा भाग, जिसे कभी-कभी पूर्व मलेशिया के नाम से भी पुकारा जाता है, दक्षिण चीन सागर में बोर्नियो द्वीप के उत्तरी हिस्से पर बसा हुआ है. मलय प्रायद्वीप पर स्थित कुआलालंपुर देश की राजधानी है, लेकिन हाल ही में संघीय राजधानी को खासतौर से प्रशासन के लिए बनाए गए नए शहर पुत्रजया में स्थानांतरित किया जा चुका है. यह 13 राज्यों से बनाया गया एक एक संघीय राज्य है.

मलेशिया में चीनी, मलय और इंडियन जैसे विभिन्न जातीय समूह निवास करते हैं. यहाँ की ऑफिशियल भाषा मलय है, लेकिन शिक्षा और आर्थिक क्षेत्र में अधिकतर अंग्रेजी का उपयोग किया जाता है. मलेशिया में 130 से अधिक बोलियाँ बोली जाती हैं, जिनमे से 14 मलेशियाई बोर्नियो में और 40 प्रायद्वीप में बोली जाती हैं, युवा वर्ग मे अंग्रेजी भाषा अधिक लोकप्रिय है. यद्यपि देश सरकारी धर्म इस्लाम है, लेकिन नागरिकों को अन्य धर्मों को मानने की आज़ादी है. 

इतिहास: मलेशिया, चीन और भारत के मध्य प्राचीन काल से व्यापारिक केंद्र बना चुका है. जब यूरोपीय लोग इस क्षेत्र में आए तो उन्होंने मलक्का को अहम् व्यापार बंदरगाह बनाया. कालांतर में मलेशिया ब्रिटिश साम्राज्य का एक उपनिवेश बना दिया गया. इसका प्रायद्वीपीय भाग 31 अगस्त 1957 को फेडरेशन मलाया के रूप में आज़ाद हुआ. 1963 में मलाया, सिंगापुर और बोर्नियो भाग साथ मिलकर मलेशिया बनाये गए. 1965 सिंगापुर अलग होकर अपनी आज़ादी का एलान किया.

=>
LIVE TV