जिले के श्रद्धालु एक जुलाई से कर सकेंगे जागेश्वर धाम के दर्शन, रखना होगा इन बातो का ध्यान

जिले के श्रद्धालु एक जुलाई से जागेश्वर धाम के दर्शन कर सकेंगे। पूजा पाठ ऑनलाइन ही होगी और मंदिर में प्रवेश के लिए कमेटी द्वारा श्रद्धालुओं को पास भी जारी किए जाएंगे। यह निर्णय जागेश्वर मंदिर समिति व जिलाधिकारी के बीच हुई बैठक में लिया गया है। बैठक में तय किया गया कि कोरोना महामारी के दौरान अभी मंदिर में पूजा पाठ व अन्य क्रियाकलाप बंद रहेंगे। पूजा अर्चना पूर्व की भांति ऑनलाइन की कराई जाएंगी। 

मंदिर में प्रतिदिन जिले के केवल 100 श्रद्धालु ही जागेश्वर धाम के दर्शन कर सकेंगे। दर्शन के लिए मंदिर सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक खोला जाएगा। डीएम ने कहा कि मंदिर परिसर को समय समय पर सैनिटाइज किया जाएगा। साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार फिजिकल डिस्टेंसिंग का पूरा पूरा ख्याल रखा जाएगा। श्रद्धालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। जबकि आरतोला और भगरतोला में दो बैरियर भी बनाए जाएंगे। जहां श्रद्धालुओं की पूर्ण जानकारी और पास की चेकिंग की जाएगी। बैठक में एसडीएम मोनिका, मंदिर समिति के अध्यक्ष भगवान भट्ट, सूचना विज्ञान अधिकारी अमित लांबा, गोविंद गोपाल, योगेश भट्ट, महेश राम, नारद भट्ट, श्रीराम प्रसाद, कमल बिष्ट, चंद्र सिंह चौहान आदि मौजूद रहे।

सामाजिक दूरी का करना होगा पालन

डीएम ने मंदिर परिसर को समय-समय पर सेनेटाइज व स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार मास्क व सामाजिक दूरी का पालन कराने के निर्देश दिये। मंदिर में आने वाले श्रद्वालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग व बिना कोविड लक्षण वाले व्यक्तियों को ही प्रवेश दिया जायेगा। इस दौरान आरतोला व भगरतोला मार्ग पर इंट्री पाइंट बनाये जायेंगे। दोनों जगहों पर श्रद्वालुओं की पूर्ण जानकारी व पास चेक किये जाएंगे।  डीएम ने कहा कि मंदिर को चरणबद्ध तरीके से अन्य श्रद्वालुओं के लिए भी खोला जायेगा। जिससे कोविड संक्रमण से बचा जा सके।

=>
LIVE TV