जानिए रूठे हुए प्यार को मनाने के कुछ आसान और अचूक टोटके

जब कोई किसी से सच्चा प्यार करता है तो प्यार में कोई भी हद पार करने के लिए तैयार हो जाता है फिर चाहे उसका अंजाम कुछ भी हो| और जब वही प्यार रूठ जाएं तो आप सोच सकते है कि वो अपने रूठे हुए प्यार को मनाने के लिए क्या -क्या कर सकते है|]

जानिए रूठे हुए प्यार को मनाने के कुछ आसान और अचूक टोटके

रूठे हुए प्यार को मनाने के टोटके, प्यार में छोटी-छोटी बातों को लेकर रूठना-मनाना लगा रहता है, लेकिन कई बार जब प्रेमियों के बीच अनबन होने पर बात अधिक बिगड़ जाती है तो रूठे हुए प्यार को मनाना मुश्किल हो जाता है। इसपर किसी शायर ने क्या खूब लिखा है- रूठे रब को मनाना आसान है, लेकिन रूठे यार को मनाना मुश्किल!

जानिए स्त्री व पुरुष वशीकरण के कुछ अचूक और चमत्कारी उपाय

हालांकि यदि कुछ टोटके के उपाय से यह मुमकिन किया जा सकता है। वैदिक तंत्र-मंत्र और शाबर मंत्र की विद्या में प्रेमी या प्रेमिका को मनाने के अलग-अलग, लेकिन अचूक प्रभाव वाले टोटके बताए गए हैं। इसके लिए उपाय करने से पहले रूठने का कारण अवश्य पता करना चाहिए। यदि प्रेमी या पति किसी दूसरी प्रेमिका या औरत के वश मंे आ गया हो, तो खोया हुआ प्यार पुनः पाने का टोटका प्रयोग में लाना चाहिए।

पीपल के पत्तेः इस टोटके को प्रेमी या प्रेमिका कोई भी अपने प्यार को पाने के लिए आजमा सकते हैं। अमावस्या के दिन पीपल के दो पत्ते तोड़ लाएं। पत्ते पीले हों, लेकिन सूखे नहीं होने चाहिए। एक पर काजल से अपने प्रिय व्यक्ति का नाम लिख दें, और उन्हें वहीं पीपल के पेड़ के पास ही उलटकर किसी भारी पत्थर से दबाकर रख दें।

दूसरे पर सिंदूर से नाम लिखें और उसे अपने घर की छत पर उल्टा कर पहले की तरह किसी भारी पत्थर या सामान से दबा दें। इस काम को लगातार 15 दिनों तक करें। पूर्णिमा के दिन दोनों जगहों से सभी पत्तों को निकलें और प्रिय व्यक्ति का नाम लेते हुए उसपर जल का अध्र्य दें। उन पत्तों को पीपल के पेड़ के पास ही गड्ढे में दबा दें। इसका असर कुछ दिनों में अवश्य दिखेगा।

तिलक का असरः रूठे हुई प्रेमिका को मनाने का यह बेहद की सरल और अचूक उपाय है। नारियाल के तेल में धतूरे के बीज को पीस लें। उसमें थोड़ी मात्रा शहद की मिला दें। प्रातः स्नान आदि के बाद उस मिश्रण का तिलक लगाएं और प्रेमिका के सामने जाएं। प्रेमिका से बातें का सिलसिला शुरू करते हुए कोशिश करें कि आपके माथे पर लगे तिलक पर उसकी दृष्टि अवश्य पड़े। या फिर वह अनायास आपके तिलक को देखकर चैंक जाए। यदि ऐसा हो गया तो समझें आपके रूठे प्यार की नाराजगी दूर हो गई है।

तीन इलायचीः रूठे प्रेमी या पति को मनाने के लिए यह टोटका किया जाना चाहिए। इसके लिए तीन इलायची लें और भगवान श्रीकृष्ण का स्मरण करते हुए शुक्रवार को उसे अपने शरीर से स्पर्श कर पहने हुए कपड़े में छिपाकर रख लें। जैसे दुपट्टे या साड़ी के पल्लू के कोने में बांध लें या फिर रूमाल में सहेज लें। अगले दिन यानी शनिवार की सुबह या दिन में जब भी प्रेमी या पति से मिलें तब उसे वही इलायची भेंट करें या फिर किसी व्यंजन में चुपके से मिलाकर खिलाने की कोशिश करें।

कुछ ज्योतिषीय उपायः यादि प्यार में प्रेमी या प्रेमिका का रूठना बार-बार होने लगे तो समझें प्यार की कृपा-दृष्टि बरसाने वाले ग्रह-सितारें की दशा ठीक नहीं है। इसके लिए जन्म कुंडली के जरिए ज्योतिषीय सलाह लें। उनके बताए निर्देशों का पालन करते हुए कुछ साधारण टोटके भी करें। जैसे-

पुलिस ने किया पेट्रोल पंप मैनेजर से हुई लूट का खुलासा, 25-25 हजार के इनामी बदमाश गिरफ्तार

जन्म कुंडली में शुक्र ग्रह को मजबूत करने का उपाय करवाएं।
कुंडली के पांचवें भाव में रहने वाले स्वामी ग्रह को अधिक मजबूत बनाने के अतिरिक्त सप्तम भाव और सप्तमेश में ग्रह की बिगड़ी स्थिति को अवश्य शांत करवाएं।

प्रेमियों को सख्त हिदायत दी जाती है वे एक-दूसरे को काली वस्तु उपहार में नहीं भेंट करें।
उपहार में देने के लिए अक्सर लाल, गुलाबी और पीले रंग की वस्तु का ही चयन करें।
प्रेमी के रूठे स्वभाव को खत्म करने के लिए लड़की को चाहिए कि वह अपने हाथों में हरी चूड़ियां और गुरूवार को पीला पहनावा पहने।
जन्म कुंडली में कालसर्प दोष हो तो उसकी शांति के वैदिक उपाय करें।
यदि जन्म कुंडली में मंगल दोष हो तब इससे मुक्ति के उपाय अवश्य करें, वरना प्यार मिलकर भी दूर हो जाएगा
प्रेम में मुधरता बनी रहे इसके लिए प्रेमियों को डेटिंग या मिलने के जगह का चुनाव भी सोच-विचारकर करना चाहिए। जैसे लाल रंग की अधिकता वाले दक्षिण-पश्चिम दिशा वाले जगह पर नहीं जाएं।

शाबर मंत्र का टोटकाः रूठे हुए प्रेमी या प्रेमिका को मनाने के लिए एक अचूक मंत्र है-

मोहिनी माता, भूत पिता, भूत सिर बेताल,

उड़ ऐं काली नगिनी को जा लग।

ऐसी जा के लाग कि नागिन को लग जावै हमारी मुहब्बत की आग।

न खड़े सुख, न लेटे सुख, न सोते सुख।

सिंदूर चढ़ाऊं मंगलवार, कभी न छोड़े हमारा ख्याल।

जब तक न देखे हमारा मुख, काया तड़प-तड़प मर जाए।

चलो मंत्र, फुरो वाचा। दिखाओ रे शब्द, अपने गुरु के इल्म का तमाशा।

इस मंत्र का शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा से आठ दिनों तक विधि-विधान के साथ जाप किया जाना चाहिए। जाप के लिए एक शांत-एकांत जगह चुनें, जो घर का कोई हिस्सा हो सकता है। रात को दस बजे कंबल के आसन पर पूरब की ओर मुंह कर बैठ जाएं। धुला हुआ कपड़ा पहनें और अपने सामने पानी का एक लोटा और दीपक या धूपबत्ती रखें।

जाप प्रारंभ करने से पहले दीपक जला लें धूपबत्ती से वातावरण को सुगंधित कर लें। अब उसका स्मरण करे, जिसे मनाना चाहते हैं। काफी मनोयोग से आंखें बंदकर मंत्र का जाप तबतक करें जबतक कि रूठे या खोए प्यार की तस्वीर आंखों के सामने नहीं आ जाए। मंत्र मंे नागिन शब्द के जगह प्रेमी या प्रेमिका नाम लें।

सोलह सोमवारः जिस किसी का प्रेमी रूठ गया हो या फिर किसी दूसरे के प्रति आकर्षित हा गया हो उसके सच्चे प्यार को पाने के लिए प्रेमिका को चाहिए कि वह सच्चे मन से सोलह सोमवार का व्रत रखे। उन्हें भगवान शिव का वरदान अवश्य मिलेगा।

मंत्र जापः अपने प्यार की सुरक्षा और प्रिय को रूठने से बचाने के लिए एक बीज मंत्र का एक सप्ताह तक प्रतिदिन जाप करें। मंत्र हैः- ऊँ हीं नमः! इसके जाप के समय लाल परिधान पहनें और कुमकुम की माला से एक हजार बार जाप करें।

मां दुर्गा की पूजाः रूठे हुए प्यार को पाने या मनाने के मां दुर्गा की शरण में जाएं और उनकी प्रतिमा पर लाल रंग की चुनरी चढ़ाएं। प्यार की सलामती का मन्नत मांगें।

भगवान विष्णु और मां लक्ष्मीः प्यार की मधुरता कायम रखने के लिए भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी की तीन माह तक पूजा करें। इस पूजा को शुक्ल पक्ष में गुरुवार के दिन से प्रारंभ करें तथा पूजन के बाद ऊँ लक्ष्मी नारायण नमः का तीन माला यानि 324 बार जाप करें।

=>
LIVE TV