जानिए बिहार और आंध्र प्रदेश में आया मानसून , इन राज्यों को करना पड़ेगा लंबा इंतजार…

दक्षिण पश्चिम मानसून बिहार और आंध्र प्रदेश में पहुंच गया है। जिससे लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली है। बिहार के पूर्णिया और आंध्र प्रदेश के अनंतपुरम और चित्तूर में मानसून की पहली बारिश हो चुकी है।

 

मानसून

बतादें की बिहार की राजधानी पटना सहित कई क्षेत्रों में शनिवार को बारिश होने की संभावना है। पटना के मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों के अनुसार पूर्णिया में पिछले 24 घंटे में 21.6 मिलीमीटर की रिकॉर्ड बारिश हुई है। वहीं भागलपुर में 10.6 मिलीमीटर और पटना में 2.2 मिलीमीटर बारिश हुई।

मानसून के दौरान होने वाली बीमारियों से बचाएंगे ये आसान से एक्सरसाइज…

वहीं उत्तर भारत के कई राज्यों को अभी मानसून के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। इसमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब शामिल हैं।

जहां दिल्ली के मौसम विभाग का कहना है कि झारखंड के कई क्षेत्रों में शनिवार को 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

जहां इसके अलावा बादलों के गरजने के साथ हल्की बूंदा-बांदी होने की संभावना है। शनिवार तक मानसून कई क्षेत्रों तक पहुंच जाएगा। पूर्वी गोदावरी में शुक्रवार को 47.75 मिलीमीटर बारिश हुई।

लेकिन दक्षिणी कर्नाटक के अंदरुनी क्षेत्रों, कोंकण और गोवा में शनिवार को भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, तेलंगाना, मराठवाड़ा, छत्तीसगढ़, ओडिशा, असम और मेघालय में बारिश होने की आशंका है।

देखा जाये तो केरल में एक हफ्ते की देरी से दस्तक देने वाला मानसून गोवा और महाराष्ट्र पहुंच चुका है। मानसून के पहुंचते ही महाराष्ट्र और गोवा में झमाझम बारिश हुई। मध्यप्रदेश के कई इलाकों में गुरुवार को हुई बारिश ने मौसम सुहाना कर दिया।

दरअसल मुंबई मौसम विभाग के अधिकारी केएस होसलीकर ने बताया कि महाराष्ट्र के पश्चिमी और दक्षिणी क्षेत्रों में मानसून पहुंच चुका है। अगले कुछ दिनों में प्रदेश के सूखाग्रस्त क्षेत्रों में अच्छी बारिश होने की संभावना है। दो-तीन दिन में मानसून राज्य के दूसरे इलाकों में भी पहुंच जाएगा।

उत्तराखंड के मौसम की बात करें तो यहां कई हिस्सों में हल्की और तेज बारिश हुई। 23, 24 और 25 जून को देहरादून में तेज हवाओं के साथ बारिश होने की आशंका जताई गई है।

मौसम विभाग ने देहरादून, टिहरी और उत्तरकाशी में ओलावृष्टि होने की चेतावनी जारी है। मसूरी में लगभग दो घंटों तक बारिश हुई। झारखंड के कई इलाकों में हुई बारिश ने जहां लोगों को राहत दी वहीं आसमानी बिजली ने तीन लोगों की जान ले ली। यह मौतें रांची के अनगड़ा, खरसावां और पश्चिम सिंहभूम में हुई हैं। आने वाले 12 घंटों में दक्षिण ओडिशा मे भारी बारिश हो सकती है।

 

=>
LIVE TV