जमीनी विवाद में बेखौफ दबंगों ने किसान को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, एक की हालत नाजुक

REPORT – B.D. MISHRA

बांदा। बाँदा में जमीनी विवाद को लेकर देर रात दबंगों ने एक परिवार पर जानलेवा हमला कर एक व्यक्ति की लाठी-डंडों से पीट -पीट की हत्त्या कर दी वहीं दो लोग इस हमले में घायल हो गए जिसमे एक कि हालात गंभीर है।

घटना के बाद से आरोपी मौके से फरार हो गए फिलहाल पुलिस आरोपियों कीं तलाश में छापेमारी कर रही है ,वही पीड़ित पक्ष इस मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही बता रहा है परिजनों का आरोप है कि दबंग पहले भी उन पर हमला कर चुके हैं लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नही की।

मामला तिन्दवारी थाना क्षेत्र के सेमरी गांव का है जहां जमीनी विवाद को लेकर दबंगो ने हथियारों और लाठी -डंडों से लैश होकर एक परिवार के ऊपर जानलेवा हमला बोल दिया और पूरे परिवार के ऊपर ताबड़तोड़ लाठियां बरसाना शुर कर दी और जिससे परिवार के दो सगे भाई घनश्याम और अरुण बुरी तरह जख्मी हो गए जिन्हें परिजनों ने पहले तिन्दवारी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया लेकिन हालात गम्भीर होने के कारण उन्हें जिला अस्पताल बाँदा रेफर कर दिया गया जहां ईलाज के दौरान घनश्याम सिंह की मौत हो गयी वहीं उसके छोटे भाई अरुण सिंह को भी गंभीर चोटें आई हैं जिसका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है ।

मृतक के परिजनों और पड़ोसियों के कहना है कि गांव का दबंग राजा सिंह मृतक की जमीन कब्जाना चाहता था जिसको लेकर उसने पहले भी मृतक के परिवार पर हमला किया था लेकिन पुलिस ने इस मामले में कोई गंभीरता नही दिखाई जिसके चलते कल रात राजा सिंह गांव के प्रधान के साथ अपने 5-6 गुर्गों के साथ घनश्याम के परिवार के ऊपर हमला बोल दिया पर हमला बोल दिया और घटना को अंजाम दे डाला जिसमे घनश्याम की दर्दनाक मौत हो गयी।

इस पूरी घटना का कारण पुलिस जमीनी विवाद बता रही है पुलिस का कहना है कि घनश्याम सिंह और राजा सिंह के बीच काफी समय से जमीनी विवाद चल रहा है जिसको लेकर आज दोनों पक्षों में विवाद हो जिसके बाद यह घटना घटित हो गयी,। फिलहाल पुलिस ने आरोपियों की तलाश में कई टीमें लगा दी है और उनकी शीघ्र गिरफ्तारी का दावा कर रही है ।

लोगों की शिकायतों पर जिलाधिकारी ने किया ARTO का औचक निरीक्षक, लगाई फटकार

लेकिन सही मायने में इस पूरी घटना की जुम्मेदार पुलिस ही है मृतक और उसके परिवार पर जब पहले हमला हुआ था अगर उसी समय पुलिस ने मामले को गंभीरता से ले लिया होता तो आज शायद यह घटना न होती और घनश्याम जिन्दा होता एक परिवार उजड़ने से बच जाता।

=>
LIVE TV