जनपद बहराइच में रोपे जायेंगे 10 लाख पौधे

Picture 004बहराइच 14 अप्रैल । माह जुलाई 2016 में किसी निर्धारित तिथि पर 24 घण्टे के अन्दर सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में 6500 स्थानों पर 05 करोड़ पौध रोपण कर विश्व कीर्तिमान स्थापित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया। वर्ल्ड रिकार्ड मेकिंग इफर्ट को हासिल करने के लिए शासन की ओर से वनों से आच्छादित जनपद बहराइच को 989092 पौध रोपण करने का लक्ष्य आवंटित किया गया है। जनपद को आवंटित किये गये कुल लक्ष्य में से 80 स्थानों पर वन विभाग द्वारा 840000 तथा शेष अन्य विभागों द्वारा 149092 पौधों का रोपण किया जायेगा।

पौध रोपण के लिए अन्य विभागों को आवंटित किये गये लक्ष्य की बात की जाय तो औद्योगिक विकास विभाग को 6500, ग्राम्य विकास विभाग को 109260, सिंचाई विभाग को 13333, माध्यमिक शिक्षा विभाग को 4000, बेसिक शिक्षा विभाग को 2667 तथा रेशम विकास विभाग, लोक निर्माण विभाग एवं उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा 3333-3333 पौधों का रोपण किया जाना है। पौध रोपण कार्यक्रम की विशेष बात यह होगी कि समस्त वृक्षारोपण स्थल की कोडिंग एनआईसी की आईजीआरएस आधारित कोड के अनुसार कराई जायेगी जिसमें जनपद, तहसील, ब्लाक एवं रोपण स्थल का कोड सम्मिलित होगा। एनआईसी की मदद से समस्त रोपण स्थलों का जनपदवार पूर्ण आनलाइन डाटा बेस तैयार कराया जायेगा।

प्रत्येक जनपद में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित जिला वृक्षारोपण समिति जिसके सदस्य सचिव प्रभागीय वनाधिकारी हैं, के माध्यम से पौध रोपण कार्य सम्पन्न कराया जायेगा। जिले में तैनात मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी, समस्त उप जिलाधिकारी, तहसीलदार, खण्ड विकास अधिकारी अपने-अपने कार्यक्षेत्र के साथ इस कार्यक्रम अन्तर्गत सौंपे गये कार्यो के लिए समिति के सदस्य के रूप में कार्य करेंगे। इसके अलावा इस अभियान में सीएमओ, एआरटीओ तथा डीआईओएस भी समिति के सदस्य के रूप में अपना सहयोग देंगे। वृक्षारोपण कार्य के लिए डीएफओ के अधीन कन्ट्रोल रूम भी स्थापित किया जायेगा।

वृक्षारोपण कार्य को सफल बनाने के लिए निर्वाचन की तर्ज पर प्रत्येक ब्लाक को एक सेक्टर तथा तहसील को ज़ोन के रूप में बॉटा जायेगा। ब्लाक के लिए बीडीओ सेक्टर आफिसर तथा तहसील के लिए ज़ोनल अधिकारी तहसीलदार तथा सुपर ज़ोनल अधिकारी उप जिलाधिकारी होंगे। जिनकी देख-रेख में पौध रोपण की कवायद को अंजाम दिया जायेगा।

पौध रोपण कार्य एवं रोपित पौधों की गणना के लिए कम से कम दो-दो निष्पक्ष गवाह तथा निष्पक्ष संप्रेक्षक के रूप में स्थानीय स्कूल/कालेज/अन्य शिक्षण संस्था के शिक्षक, लेक्चरर, प्रोफेसर, कर्मचारी, लाइब्रेरियन/लैब असिस्टेन्ट/पोस्ट ग्रैजुएट विद्यार्थी, किसी भी पंजीकृत स्वयंसेवी संस्था के सदस्यगण, स्थानीय बैंक/अन्य कार्यलयों के कर्मचारीगण/अधिकारीगण का उनकी स्वेच्छा से चयन किया जायेगा। सभी रोपण स्थल पर फोटोग्राफी एवं वीडियोग्राफी की भी व्यवस्था की जायेगी।

जिले में पौध रोपण के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आहूत की गयी बैठक में सभी लक्षित विभागों को निर्देश दिया गया कि पौध रोपण के लिए स्थल का चयन कर सूची तत्काल डीएफओ बहराइच को उपलब्ध करा दें। सीडीओ ने प्रभागीय वनाधिकारी को निर्देश दिया कि पौध रोपण के लिए जिले की नर्सरियों का चिन्हॉकन कर यह सुनिश्चित करायें पौध रोपण के निकटम नर्सरी से पौधों की आपूर्ति सुनिश्चित हो।

निर्धारित अवधि में लाखों की संख्या में पौध रोपण के लिए भारी मात्रा में श्रमिकों की आवश्यकता को मद्देनज़र रखते हुए सीडीओ ने यह भी निर्देश दिया कि जनपद में मनरेगा अन्तर्गत पंजीकृत समस्त श्रमिकों को उनके ग्राम के निकटतम रोपण स्थल के लिए निर्देशित कर दिया जाय। ताकि पौध रोपण स्थल पर पर्याप्त संख्या में श्रमिक उपलब्ध रहें। बैठक के अन्त में प्रभागीय वनाधिकारी अखिलेश पाण्डेय ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे।

                 

=>
LIVE TV