चुनाव के बाद जनता को लग सकता है झटका, बढ़ सकते हैं पेट्रोल डीजल के दाम

चुनाव नतीजों के बाद घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल का दाम बढ़ना तय है। अमेरिकी फैसले के बाद ईरान से तेल आयात पर प्रतिबंध के चलते यह असर दिखेगा।

भारत अभी ईरान से खाद्य सामग्री और औषधि के बदले अधिकतर कच्चे तेल का आयात करता है, लेकिन 2 मई के बाद उसे अन्य विकल्पों के तौर पर नकद भुगतान करना पड़ सकता है।

पेट्रोल डीजल

ट्रेड प्रोमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया (टीपीसीआई) के विश्लेषक आशुतोष झा का कहना है कि अभी तो भारत साल में करीब 80 अरब डॉलर का कच्चा तेल ईरान से बगैर नकदी चुकाये लेता है।

अनंतनाग में सुरक्षाबलों की आतंकियों से मुठभेड़, दो आतंकी ढेर

इसके बदले खाद्य सामग्री और दवाइयों की आपूर्ति की जाती है। अमेरिका ने ‘फूड फॉर ऑयल’ नीति के तहत ही ईरान को तेल बेचने की इजाजत दी थी।

इस मैकेनिज्म के खत्म होने के बाद भारत को अन्य तेल उत्पादक देशों से आपूर्ति को समझौता करना होगा और भुगतान का विकल्प भी बदल सकता है।

=>
LIVE TV