चाणक्य नीति

अपमानित हो के जीने से मरना अच्छा है. मृत्यु तो बस एक क्षण का दुःख देती है, लेकिन अपमान हर दिन जीवन में दुःख लाता है. =>

चाणक्य नीति

=>
LIVE TV