ये 6 आदतें आपके घुटनों के दर्द को चुटकियों में दिलाएगा राहत

जोड़ों में दर्द की समस्या आजकल सिर्फ बुजुर्ग नहीं, बल्कि युवाओं और बच्चों में भी देखी जा रही है। इसका कारण यह है कि लोगों की जीवनशैली और खानपान में बहुत बदलाव आए हैं। इसके अलावा कुछ गलत आदतों के कारण भी लोगों में हड्डियों से जुड़ी समस्याएं बढ़ रही हैं।

घुटनों के दर्द को चुटकियों

हमारे शरीर में घुटनों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। घुटनों के द्वारा ही हम खड़े होने, चलने और पांवों को मोड़ने में सक्षम होते हैं। गठिया जोड़ों की एक गंभीर समस्या है, जिसमें हाथ-पैर के जोड़ों में असहनीय दर्द और सूजन होती है। आइए आपको बताते हैं आपके घुटनों के लिए कौन सी आदतें हैं खराब।

खानपान की गलत आदतें

गठिया और जोड़ों में दर्द का मुख्य कारण जोड़ों में यूरिक एसिड का जमना है। आमतौर पर तनाव, शराब का अत्यधिक सेवन, लम्बे समय तक भोजन न करना और बिलकुल शारीरिक व्यायाम न करने के कारण जोड़ों में यूरिक एसिड जमा हो जाता है। इसके अलावा ज्यादा मीट, मसाले, चीनी, नमक और खट्टी चीजें खाने से भी घुटनों पर बुरा असर पड़ता है। डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी के कारण भी घुटनों में यूरिक एसिड जमा हो जाता है।

घंटों एक जगह बैठने की आदत

लगातार कई घंटें कुर्सी पर बैठे रहने से कमर में दर्द की शिकायत आम जो जाती है और इससे घुटने भी प्रभावित होते हैं। लगातार लंबे समय तक बैठे रहने से आपका खून का संचार ठीक से नहीं हो पाता है। एक ही जगह बैठने के कारण कमर और उसके आसपास की मांसपेशियों में जकड़न हो जाती है और इससे रक्‍त संचार प्रभावित होता है। इसके अलावा लगातार कुर्सी पर बैठने से आपकी हड्डियों के घनत्‍व में भी कमी आ सकती है, जिससे गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस जैसे रोगों की संभावना बढ़ जाती है।

जानिए सफेद बालों से छुटकारा पाने के लिए कुछ घरेलू उपचार

मोटापा

मोटापा घुटने में दर्द की एक और बड़ी वजह है। शरीर का अधिक भार हमारे घुटनों को ही उठाना पड़ता है। अधिक वजन के कारण घुटनों पर जो अधिक भार पड़ता है उसके कारण जोड़ों को अधिक नुकसान होता है। अधिक उम्र के साथ यदि आपका वजन भी अधिक है तो इससे ऑस्टियोपो‍रोसिस होने का खतरा और बढ़ जाता है।

ट्रेडमिल पर ज्यादा दौड़ना

जिम में लोगों को ट्रेडमिल पर दौड़ना बहुत अच्छा लगता है। लेकिन दौड़ने के साथ-साथ अन्य एक्सरसाइज भी शरीर के लिए जरूरी है। अगर आप रोजाना बहुत ज्यादा दौड़ते हैं और दूसरी एक्सरसाइज नहीं करते हैं, तो इससे आपके घुटनों पर बुरा असर पड़ता है। जब मशीन पर पैर को पूरी तरह फैलाया जाता है तो वजन का दबाव घुटने के जोड़ खासतौर पर घुटने के जोड़ को सुरक्षा देने वाली त्रिकोण हड्डी पर पड़ता है। वजन बहुत अधिक होने घुटनों के पीछे के कार्टिलेज के घिसने की आशंका बढ़ जाती है। इसलिए ट्रेनर से पूछकर निर्धारित समय तक ही ट्रेडमिल पर दौड़ लगाएं।

रमजान के महीने में चुनाव पर गरमाया माहौल, इन मुस्लिम नेताओं ने जताई आपत्ति…

उंची हील वाले सैंडल से

लड़कियों और महिलाओं में ऊंची हील वाली सैंडल का चलन बहुत ज्यादा है। ऊंची हील की सैंडल पहनने से महिलाएं लंबी तो दिखने लगती हैं मगर उनके घुटनों पर इस आदत का बुरा असर पड़ता है। ऊंची हील वाली सैंडल्स पहनने के कारण पैरों में दर्द व मोच हो सकता है। इसके अलावा पैरों की मांसपेशियों में खिंचाव होने की संभावना बढ़ती है। लंबे समय में ये आदत आपके घुटनों को पूरी तरह खराब भी कर सकती है।

गलत तरीके से उठना, बैठना और खड़े होना

बैठने, उठने और खड़े रहने का गलत तरीका भी आपके घुटनों को नुकसान पहुंचा सकता है। लंबे समय तक खड़े रहना, आगे की तरफ झुककर खड़े होना, कुर्सी पर बैठने में लगातार पैरों को हिलाना और आड़ा-तिरछा लेटना, बैठना भी आपके शरीर के जोड़ों के लिए खतरनाक हो सकता है।

 

 

=>
LIVE TV