क्रशर कारोबारी की मौत के मामले में एसआइटी ने शुरू की जांच, कबरई पहुंचकर देखा घटनास्थल

कार में गोली लगने से घायल मिले क्रशर कारोबारी की मौत के बाद घटना की जांच के लिए बुधवार को एसआइटी के अधिकारी कबरई पहुंचे। टीम ने सबसे पहले वह स्थान देखा जहां पर क्रशर कारोबारी कार के अंदर घायल पड़े मिले थे, यहां बारीकी से जांच के बाद वीडियो रिकॉर्डिंग कराई। माना जा रहा है टीम क्रशर कारोबारी का तत्कालीन एसपी के खिलाफ वायरल वीडियो की भी जांच करेगी।

तत्काली एसपी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाला वीडियो वारयल करने के बाद क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी कबरई में आठ सितंबर को अपनी गाड़ी में घायल मिले थे। गंभीर हालत में उन्हें कानपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी 13 सितंबर शाम मौत हो गई थी। उन्होंने वायर वीडियो और मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में तत्कालीन एसपी पर रिश्वत मांगने और उनसे जान का खतरा बताया था। इस मामले की जांच के लिए शासन ने एसआइटी का गठन किया है।

एसआइटी में आइजी जोन वाराणसी विजय सिंह मीणा, डीआइजी शलभ माथुर और एसपी अशोक कुमार त्रिपाठी जांच के लिए बुधवार दोपहर करीब सवा बारह बजे कबरई पहुंचे। कबरई में सबसे पहले घटनास्थल पर पहुंचे और विवेचक सीओ सिटी आरके सिंह से पूरी जानकारी ली। जहां गाड़ी खड़ी मिली थी, उसके इर्दगिर्द देखा। करीब बीस मिनट तक अधिकारी पचास मीटर घेरे में चप्पे-चप्पे पर नजर डालते रहे।

जांच के दौरान वीडियो रिकार्डिंग भी कराई और नलकूप के आसपास मौजूद किसानों से बात की। एक मकान के पास दो किशोर मिले तो उन्हें अलग ले जाकर करीब दस मिनट तक बात करते रहे। किशोरों से पूछा कि उस दिन गाड़ी कितने बजे यहां खड़ी देखी थी। क्या गोली चलने की कोई आवाज सुनी थी। माना जा रहा अभी टीम के अफसर विवेचना से जुड़े अन्य बिंदुओं और वायरल वीडियो को भी जांच में शामिल कर सकते हैं।

=>
LIVE TV