‘रडार से गायब’ हुए 85 हवाई जहाजों से 10 मिनट के लिए संपर्क टूटा

एजेन्सी/  aviation-aeroplane-plane-generic-reuters_650x400_61446221713कोलकाता: शुक्रवार की सुबह कोलकाता के एयर ट्रैफिक कंट्रोल और उड़ान भर चुके 85 एयरक्राफ्ट के बीच जब 10 मिनट के लिए संपर्क टूटा तो मानो सबकी सांसें थम गईं। इन हवाईजहाज़ों में करीब 25 हज़ार लोग सवार थे और 10 मिनट के लिए उन सबकी जान खतरे में पड़ चुकी थी। मल्टीपल रडार और VHF रेडियो करीब 1 घंटा 40 मिनट के लिए ठप्प रहे, ऐसे में 35 कंट्रोलर ने मोबाइल फोन के जरिए सभी नज़दीकी ATCs से संपर्क किया ताकि हवा में मौजूद जहाज़ों को उनके बीच के फासले को जानकारी दी जा सके।

नेटवर्क ठप्प पड़ा
सुबह साढ़े सात बजे के करीब एयरक्राफ्ट की लोकेशन बताने वाली एटीसी की स्क्रीन पूरी तरह खाली पड़ गई। इससे हवाईजहाज़ों से संपर्क पूरी तरह टूट गया। कंट्रोलर ने VHF के जरिए संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उससे भी बात नहीं बनी। सूत्रों का कहना है कि कोलकाता एयरपोर्ट का बीएसएनएल नेटवर्क ठप्प पड़ जाने से यह हालात खड़े हुए। इंटरनेट प्रोटोकल के जरिए चलने वाली लाइनों से ही पायलट से संपर्क किया जाता है ताकि उन्हें जहाज़ों के बीच के फासले को लेकर चेताया जा सके।

एक कंट्रोलर के मुताबिक ‘जो भी हुआ वह एक बुरे सपने की तरह था। यहां तक की लैंडलाइन भी काम नहीं कर रहा था। लेकिन हमने नागपुर और वाराणसी के एटीसी से संपर्क किया ताकि वह पायलट तक सूचना पहुंचा सके।’ नागरिक उड्डयन और भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकरण के डीजी ने कहा है कि शुक्रवार की सुबह साढ़े सात बजे के करीब हुई इस घटना की जांच की जाएगी।

=>
LIVE TV