कोरोना वायरस के संक्रमण ने समूची व्यवस्था को किया प्रभावित, शिक्षा विभाग कर रहा तैयारी

कोरोना वायरस के संक्रमण ने समूची व्यवस्था को प्रभावित किया है। खासकर शिक्षा व्‍यवस्‍था पर काफी प्रभाव पड़ा है। विद्यार्थियों के पठन पाठन पर सब से अधिक दुष्प्रभाव पड़ा है। वर्तमान सत्र में देखा जाए तो कक्षा नौ और 11 के अग्रिम पंजीकरण व कक्षा दस और 12 के विद्याॢथयों के आवेदन पत्रों को ऑनलाइन भरने की संख्या भी अब तक बहुत कम है। इसे लेकर छात्र, अभिभावक सभी उदासीन हैं। या तो कोरोना संक्रमण का उनमें दहशत है।

सभी स्‍कूलों के प्रधानाचार्यों को भेजा गया पत्र

जिला विद्यालय निरीक्षक की तरफ से सभी विद्यालयों के प्रधानाचार्यों को इस संबंध में पत्र जारी किया गया है। कहा गया है कि सभी अध्यापक निजी तौरपर इसमें सक्रिय भूमिका निभाएं। यह भी कहा है कि यदि किसी कॉलेज में ढिलाई बरती जाती है तो प्रधानाचार्य इसके लिए जिम्मेदार माने जाएंगे।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने कहा, सामूहिक प्रयास की जरूरत

जिला विद्यालय निरीक्षक की तरफ से जारी पत्र में कहा गया है कि  31 अगस्त तक सभी विद्यालय अपने कॉलेज के विद्यार्थियों का शुल्क अनिवार्य रूप से जमा करा दें। पांच सितंबर तक फार्म भी भर दिए जाएं। उन्होंने यह भी कहा है कि पूर्व में विद्यार्थियों की संख्या कम होने के कारण ही तारीख बढ़ाई गई। आए यह तारीख बढ़ाना संभव नहीं होगा। सत्र ठीक समय से चले और पठन-पाठन भी व्यवस्थित रहे, इसके लिए सामूहिक प्रयास की जरूरत है।

बोले, जीआइसी के प्रधानाचार्य

इस संबंध में जीआइसी के प्रधानाचार्य देवेंद्र सिंह ने बताया कि जीआइसी में कक्षा 11 के करीब 80 प्रतिशत विद्यार्थियों के फार्म भरे जा चुके हैं जबकि कक्षा नौ में अभी संख्या कम है। करीब 55 प्रतिशत विद्यार्थियों के ही फार्म भरे गए हैं। जल्द ही समय सीमा के भीतर सभी विद्याॢथयों के शुल्क जमा कराते हुए फार्म भरने की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

=>
LIVE TV